कुर्सी के मोह में फसा है जल निगम का कर्मचारी


उत्तर प्रदेश।।(आर.के.द्ध‍िवेदी)जनपद के  मुख्यालय उरई में पूर्व में  जल निगम सुखनंदन बाबू  जो कि अकाउंटेंट के पद पर थे जो कि 2004 में जल निगम विभाग से रिटायर्ड हो गए थे जो  की झांसी के निवासी है रिटायर्ड होने के बाद भी झांसी से आते है उरई मुख्यालय में अभी भी जल निगम विभाग में कार्यरत है।

जब सुखनंदन बाबू  से पूछा गया कि आप यहाँ रिटायर्ड होने के बाद भी कम कर सकते हो तो उन्हों ने बताया कि नही मै बड़े साहब ओमवीर सिंह जी (अधिशाषी अभियंता )जल निगम के कहने से यह काम करता हु जब जल निगम के अधिशाषी अभियंता ओमवीर सिंह से इस विषय मे पूछा गया कि सुखनंदन बाबू  जो कि आप के विभाग में रिटायर्ड होने के बाद भी झांसी से आके यहा कई सारे बाबुओं का पूरा काम सम्हाल रहे है।

वही पर जल निगम के ओम वीर सिंह अधिशाषी अभियंता ने अपना बचाव करते हुए कहा कि मैने सुखनंदन बाबू को ऐसा कोई आदेश नही किया कि वो मेरे ऑफिस में आके यहां काम करे इसका मतलब ये हुआ की जल निगम के अधिशाषी अभियंता का कोई आदेश नही चलता जब चाहे कोई भी कहीं से भी ऑफिस में आके काम करने लगे।

COMMENTS

%d bloggers like this: