मौसम वैज्ञानिक ने जारी की चेतावनी !

हरियाणा।।(प्रवीण कुमार )  लगातार पिछले दो दिनों से मौसम परवर्तनशील नजर आ रहा है। लेकिन किसानो की फसलों को लेकर चिंता बानी हुई है। क्योकि किसानो की गेहू की फसल पकने की कगार पर है और इस तरह से मौसम खत=खराब रहा तो किसानो की मुस्किले बढ़ सकती है। लेकिन हरियाणा कृषि विश्विधालय के मौसम विभाग के अनुसार किसानो को मौसम को लेकर चिंता करने की कोई आवश्कता नहीं है।
क्योकि किसानो और फसलों के लिए मौसम काफी अनुकूल है। तापमान भी सामान्य चल रहा है जो की गेहू की फसलों के लिए काफी लाभदायक सिद्ध हो सकता है। मौसम बीच बीच में करवट बदल रहा है। लेकिन मौसम विभाग के अनुसार फसलों को किसी भी प्रकार का कोई नुक्सान नहीं है। किसानो को फसलों को लेकर घबरने की जरूरत नहीं है। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले समय में मौसम फसलों के अनुकूल रहने की संभावना जताई जा रही है।
हरियाणा कृषि विश्विधालय के मौसम वैज्ञानिक डॉक्टर सुरेंद्र सिंह ने बताया कि आने वाले दिनों में मौसम बिल्कुल साफ सुथरा ही रहेगा क्योंकि आजकल जो तापमान चल रहा है। अधिकतम तापमान  31 व  32 डिग्री के आसपास और न्यूनतम तापमान करीब 16 से 17 डिग्री के  आसपास चल रहा है।  जोकि फसलों के लिए मौसम बड़ा ही माकूल है। उन्होंने बताया की  आने वाले दिनों में थोड़ी बहुत बादलवाही भी हो सकती है।
लेकिन समानता मौसम लगभग अच्छा ही रहेगा। व साफ रहेगा। मौसम खराब होने की ऐसी कोई भी एक्टिविटी होने की कोई उम्मीद नहीं है।  उन्होंने बताया कि जो सरसों की फसल पहले बोई  हुई है। और  जो फसल टाइम पर बोई  थी। वह अगेती फसल  मंडीयो  में आ गई है। और कुछ फसल  कटाई पर भी है। मौसम वैज्ञानिक ने बताया  की  गेहूं की  पकाई  के लिए बहुत ही अच्छा मौसम है। गेहूं पकने का समय आया हुआ है। और मौसम अच्छी पैदावार के लिए बहुत ही उपयोगी है। क्योंकि तापमान लगभग सामान्य है। 1 व  2 डिग्री ऊपर नीचे चल  रहा है। और जो भी फसल हमारी खेतों में खड़ी है।
उनकी पकाई के लिए बड़ा ही उपयोगी मौसम है।  मौसम वैज्ञानिक डॉक्टर सुरेंद्र सिंह ने किसानों को सलाह देते हुए कहा कि किसान अपनी फसलों पर नजर रखें। मौसम के हिसाब से किसानों को चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं है। अगर किसानों की कोई भी फसल कटती है। तो मंडी में उसे साफ-सुथरा कर के ले कर जाए। ताकि उस फसल का अच्छा भाव मिल सके। और जो सब्जी वाली फसल है। बेल वाली फसल है।  उनमें अच्छे से पानी लगाएं। और गेहूं की फसल को अब और पानी की  जरूरत नहीं है।  क्योंकि गेहूं की फसल अब पकने पर आ गई है। और किसान भाइयों को इस तरह के मौसम में घबराने की किसी प्रकार की जरूरत नहीं है।

COMMENTS

%d bloggers like this: