ना खाएंगे और ना खाने देंगे, ना सोएंगे और ना जुआडियों को जागने देंगे

ना खाएंगे और ना खाने देंगे, ना सोएंगे और ना जुआडियों को जागने देंगे

मीरजापुर : विन्ध्याचल थाना के इंस्पेक्टर अशोक कुमार सिंह एस. आई. कृष्णानंद रॉय, कस्बा इंचार्ज विजय शंकर सिंह, कांस्टेबल सचिन रॉय, संजय, चंदन सिंह आदि दर्ज़न भर मय हमराहियों के साथ रात भर जुए के अड्डो को खंगालते रहे। इस दौरान रात भर की परिश्रम में 10 जुआड़ियों को धर दबोचने और 28400 रुपये बरामद करने में सफल भी रहे।

बताते चले कि दीपावली की रात में जहां लोग अपने अपने छूत छोडाने के लिए रात भर कुछ नौसिखिये भी जुए के अड्डे को खोजते रहे कि कहां जुआ हो रहा है और प्रशासन भी यही खोज में निकली थी कि आखिर जुआ कहां हो रहा है। चर्चित क्षेत्रो में में दविश देकर पुलिस ने 10 जुआड़ियों को धर दबोचने के साथ 28400 रुपया भी जुआड़ियों से बरामद किया गया और साथ मे ताश की गड्डी भी।

इस बार चर्चा का विषय यह रहा क्षेत्रो में कई आखिर जुआ कब होगा कब उनके मन का होगा, लेकिन दुर्भाग्य से इस बार अपने ड्यूटी को अपना कर्तव्य परायण समझने वाले इंस्पेक्टर एसआई और कस्बा इंचार्ज बखूबी अपने कार्यो को दिन और रात करके निभाते रहे, आलम यह रहा कि इस दीपावली को जुआड़ियों के लिए फीकी नजर आया।

वही मिठाई के दुकानों पर मिठाई की दावं लगवाने वाले भी इस बार बहुत ही शांत चित्त दिखे और अपने मिठाईयो को किलो के भाव बेचते नजर आए। बता दे कि कौड़ियों को फेंककर के लोगो से बोली बोलकर के यहां मिठाईयो को बेचा जाता है, जिसमे 6, 7, 8 और 9 के अंक को बोलकर बोली लगाकर के मिठाईयो की ख़पत किया जाता था लेकिन इस बार ऐसा नही हुआ।

मादक पदार्थो की बिक्री पर भी कुछ इस प्रकार से लगाम लगाया गया है जो पहले की अपेक्षा बहुत ही कम देखने को मिल रहा था। जहां दीपावली के आते ही जुआड़ी और जुआ खेलाने वालों की चांदी कटती थी पर इस बार ईमानदारी पूर्वक ड्यूटी करने वालो की वजह से कस्बे में नज़ारा कुछ और ही बयां कर रहे थे। यह तो वही मिशाल बैठ रहा है कि ना खाएंगे और ना खाने देंगे, ना सोएंगे और ना जुआडियों को जागने देंगे।

जी हां इस बार कोतवाली विन्ध्याचल में कुछ ऐसा ही हुआ, जिसको जगना था वह इस जनपद से अन्य जनपदों में जाकर के शरण लिए हुए थे। वाकई विन्ध्याचल में दीपावली बड़ी शांति ढंग से मनाया गया। इसका पूरा श्रेय विन्ध्याचल के समस्त ईमानदार पुलिस को जाता है, जो अपनी दीवाली छोड़कर जनता की दीवाली को अच्छा मनाने में लगी थी।

COMMENTS

%d bloggers like this: