Home Delhi दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू लगने के बाद फिर प्रवासी श्रमिकों का पलायन...

दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू लगने के बाद फिर प्रवासी श्रमिकों का पलायन शुरू, आनंद विहार बस अड्डे पर उमड़ी भीड़

350
0

असल न्यूज़: राजधानी दिल्ली में कोरोना महामारी की चौथी लहर को काबू करने के लिए पहले लगाए गए नाइट कर्फ्यू और अब वीकेंड कर्फ्यू ने प्रवासी मजदूरों की परेशानी और बढ़ा दी है। काम-धंधे प्रभावित होने और बीते साल लगाए गए लॉकडाउन में हुई दिक्कतों को देखते हुए अब इन प्रवासी श्रमिकों ने दिल्ली से पलायन शुरू कर दिया है। शुक्रवार को आनंद विहार बस अड्डे पर घर वापस लौटने वालों की भारी भीड़ देखी गई। इन लोगों को फिर से लॉकडाउन का डर सता रहा है।

आनंद विहार बस अड्डे पहुंचे एक व्यक्ति ने बताया कि यहां कल से वीकेंड कर्फ्यू लगने वाला है, इसलिए अब हम अपने गांव प्रतापगढ़ वापस जा रहे हैं क्योंकि हम रोज कमाने-खाने वाले इंसान हैं, यदि काम बंद हो जाएगा तो हम यहां क्या करेंगे।

इस बार हर कोई किसी भी तरह जल्द से जल्द अपने घर पहुंचने के लिए जद्दोजहद कर रहा है। प्रवासी मजदूरों के पलायन से जुड़ी ऐसी कुछ खबरें एनसीआर के अन्य शहरों से भी सामने आ रही हैं, जहां से लोगों ने अपने घरों को लौटना शुरू कर दिया है।

दिल्ली: वीकेंड कर्फ्यू लगने से पहले बड़ी संख्या में लोग आनंद विहार बस टर्मिनल पहुंचे। एक व्यक्ति ने बताया, “यहां कल से वीकेंड कर्फ्यू लगने वाला है इसलिए हम अपने गांव प्रतापगढ़ जा रहे हैं क्योंकि हम रोज़ कमाने वाले इंसान हैं..काम बंद हो जाएगा तो हम यहां क्या करेंगे।” 

बता दें कि, बीते साल लगाए गए देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान आनंद विहार पर प्रवासी श्रमिकों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी थी, जिसे काबू करने के पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी थी। 

दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू के दौरान मॉल, जिम और स्पा बंद रहेंगे

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए गुरवार को उपराज्यापाल अनिल बैजल से मुलाकात के बाद राजधानी में वीकेंड कर्फ्यू लगाने और 30 अप्रैल तक कुछ सेवाओं को बंद रखे जाने की घोषणा की। इस वीकेंड कर्फ्यू को बढ़ाने पर फैसला अगले सप्ताह कोविड-19 हालात की समीक्षा के बाद लिया जाएगा।

गुरुवार को जारी आधिकारिक आदेश के अनुसार, वीकेंड कर्फ्यू शुक्रवार 16 अप्रैल को रात 10 बजे से शुरू होगा और सोमवार 19 अप्रैल को सुबह 5 बजे तक जारी रहेगा। राजधानी में जिम, ऑडिटोरियम, मॉल, स्पा, मनोरंजन पार्क और सभा कक्ष 30 अप्रैल तक बंद रहेंगे। सिनेमाघरों में भी केवल 30 प्रतिशत लोगों को प्रवेश दिया जाएगा। वहीं, रेस्तरां के भीतर बैठकर खाना खाने की अनुमति नहीं होगी और वीकेंड कर्फ्यू के दौरान आवश्यक सेवाएं और शादी समारोह प्रभावित नहीं होंगे इने लिए कर्फ्यू पास जारी किए जाएंगे।

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने अपने आदेश में कहा कि वीकेंड कर्फ्यू के दौरान शादी में 50 और अंतिम संस्कार में 20 लोगों के शामिल होने की अनुमित होगी।

मीडिया कर्मियों को वीकेंड कर्फ्यू से छूट

हवाई अड्डे, रेलवे स्टेशन और अंतरराज्यीय बस अड्डे जाने वाले लोगों को वैध टिकट दिखाकर आगे जाने की अनुमति होगी। हालांकि, टीका लगवाने जा रहे लोगों को कर्फ्यू पास के लिए आवेदन करना होगा। भोजन, किराने, फल और सब्जियों और दैनिक उत्पादों से जुड़े लोगों को भी आवाजाही के लिए कर्फ्यू पास दिखाना होगा।मीडिया कर्मियों को वीकेंड कर्फ्यू से छूट रहेगी।

केजरीवाल ने कहा था कि वीकेंड कर्फ्यू लागू करने का कारण यह है कि वीकेंड पर लोग सैर-सपाटा और ऐसी अन्य गतिविधियों में शामिल होते हैं। इसलिए बिना किसी खास परेशानी के इनके बगैर रहा जा सकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना की चेन को तोड़ने और लोगों को संक्रमण से बचाने के लिए वीकेंड कर्फ्यू लगाया जा रहा है। हम अस्पताल, रेलवे स्टेशन, हवाई अड्डों जैसी आवश्यक सेवाओं में शामिल लोगों और शादी करने वालों को असुविधा नहीं होने देंगे। हम उन्हें बिना देरी और आराम से आवाजाही करने देने के लिए पास जारी करेंगे।

केजरीवाल ने कहा कि एक जोन में प्रतिदिन केवल एक ही साप्ताहिक बाजार लगाने की अनुमति होगी तथा कार्यक्रम में शामिल होने की इजाजत पाने वालों की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए कदम भी उठाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि सरकार कोविड संबंधी व्यवहार जैसे मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग बनाना आदि को सख्ती से लागू करना सुनिश्चित करेगी क्योंकि कुछ लोग अब भी इसका पालन नहीं कर रहे हैं। सरकार पहले ही 30 अप्रैल तक दिल्ली में रात 10 बजे से सुबह पांच बजे तक रात्रि कर्फ्यू लागू कर चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here