Home Delhi दिल्ली में अब कभी भी लग सकता है “लॉकडाउन”.

दिल्ली में अब कभी भी लग सकता है “लॉकडाउन”.

852
0

असल न्यूज़: (अजय शर्मा)  दिल्ली में कोरोना से दिन-ब-बिन हालात भयावह होते जा रहे हैं। दिल्ली में हर घंटे 1000 मरीज मिल रहे हैं। सीएम अरविंद केजरीवाल ने माना है कि हालात खराब हो रहे हैं। ऑक्सीजन और रेमडेसिविर जैसी दवाएं कम पड़ने लगी हैं।

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। 24 घंटे में करीब 24 हजार नए मामले सामने आए हैं। एक दिन के अंदर संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। इसलिए स्थिति काफी गंभीर एवं चिंताजनक है। केजरीवाल ने कहा कि बिस्तरों की संख्या भी कम पड़ती जा रही है और दिल्ली सरकार इन्हें बढ़ाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि हमारा सबसे बड़ा लक्ष्य ऑक्सीजन युक्त बिस्तरों की संख्या बढ़ाना है।

अगर इसी तरह कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ती रही तो जल्द ही दिल्ली में लॉकडाउन लगाना पड़ सकता है

ऑक्सीजन की तुरंत सप्लाई दी जाए’

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को भेजे पत्र में लिखा है कि दिल्ली में ऑक्सीजन की भारी कमी हो रही है. साथ ही उन्होंने केंद्र के अस्पतालों में 7 हजार बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व किए जाने की मांग की है. सीएम केजरीवाल ने ऑक्सीजन की तुरंत सप्लाई देने की मांग की है.

‘गृह मंत्री से की बात’

CM केजरीवाल ने बताया कि बेड और ऑक्सीजन की तेजी से बढ़ती आवश्यकता के बारे में उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) से बात की है. उन्होंने कहा, ‘हम केंद्र से लगातार संपर्क में हैं और उनसे सहायता प्राप्त कर रहे हैं.’ इससे पहले दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में मेडिकल ऑक्सीजन की कमी है और प्रदेश सरकार ने केंद्र से यहां ऑक्सीजन की आपूर्ति तत्काल बढ़ाने का अनुरोध किया है. 

‘ऑक्सीजन कोटा तुरंत बढ़ाया जाए’ 

दिल्ली में कोविड-19 प्रबंधन के नोडल मंत्री सिसोदिया ने ट्वीट किया, ‘सामान्य से कहीं अधिक खपत के कारण दिल्ली के लिए आवंटित ऑक्सीजन की सप्लाई काफी कम पड़ रही है.’ उन्होंने आगे ट्वीट किया, ‘कुछ अस्पतालों से सूचना मिल रही है कि उनके पास ऑक्सीजन का स्टॉक अब बहुत सीमित समय के लिए बचा है. दिल्ली सरकार ने भारत सरकार से दिल्ली के लिए ऑक्सीजन का कोटा तुरंत बढ़ाने की मांग की है.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here