Home Lifestyle बेहतर शारीरिक संबंध के लिए जानें महिलाओं के संवेदनशील अंगों के बारे...

बेहतर शारीरिक संबंध के लिए जानें महिलाओं के संवेदनशील अंगों के बारे में

283
0

महिलाओं में पुरूषों से ज्यादा होती है सैक्स करने की इच्छा, बस इन अंगों को छूते ही हो जाती है एकदम तैयार

शारीरिक संबंध (Sex) बनाने के दौरान महिला और पुरुष, दोनों में आपसी सामंजस्य होना बेहद आवश्यक होता है. सेक्स को दोनों शारीरिक संतुष्टि चाहते हैं, इसलिए दोनों के एक-दूसरे के शरीर के संवेदनशील अंगों (Sensitive Body Parts) के बारे में जानना बेहद जरूरी है. वैसे हर महिला के संवेदनशील अंग अलग-अलग होते हैं, जहां स्पर्श में उसमें कामेच्छा जागती है. आइए जानते हैं महिलाओं के संवेदनशील अंगों के बारे में.

हर महिला के संवेदनशील अंग (Sensitive Organs) अलग-अलग होते हैं, जहां स्पर्श में उसमें कामेच्छा जागती है.

कान (ear)

कान भी महिलाओं को उत्तेजित करने में प्रमुख भूमिका निभाते हैं. ये शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से महिला पार्टनर से तैयार करते हैं. अगर काम-क्रिया में चरमानंद लेना चाहते हैं तो अपने पार्टनर के कान के निचले हिस्से या पीछे के भाग को सहलाना चाहिए.
गर्दन (neck)

अधिकतर महिलाओं को सेक्स के दौरान गर्दन पर हल्के हाथों से छूना और किस करना अच्छा लगता है. इससे सेक्स के प्रति उत्तेजना बढ़ती है. दरअसल महिलाओं की गर्दन का पिछला हिस्सा बहुत संवेदनशील होता है. इसे सहलाने से सेक्स का आनंद बढ़ाया जा सकता है.

जांघ का अंदरूनी हिस्सा (Thigh part of the thigh)

महिलाओं की जांघों का अंदरूनी हिस्सा बेहद संवेदनशील होता है. जहां प्यार से छूने, सहलाने से महिलाओं की उत्तेजना बढ़ जाती है और वो शारीरिक संबंध के दौरान ज्यादा आनंद ले पाती हैं.

पैर और अंगूठा (Foot and thumb)

महिलाओं के पैरों में कई संवेदनशील नर्व होती हैं, जिन्हें छूने से सेक्स करने की इच्छा जाग्रत होती है. महिलाओं का तलवा और अंगूठा भी सेंसिटिव (संवेदनशील) होता है, इसलिए इन शारीरिक अंगों को छूने से भी शारीरिक संबंधों का आनंद बढ़ाया जा सकता है.

पलकें (Eyelashes)

जब पार्टनर की पलकों को प्यार से चूमेंगे तो शरीर में एक सिहरन सी होने लगती है. दरअसल पलकों की त्वचा बेहद पतली होती है और कई नर्व्स की मौजूदगी इसे संवेदनशील बना देती है, इसलिए इसकी गिनती कामोत्तेजक अंगों में होती है.

पीठ (back)

महिलाओं की पीठ का हिस्सा भी काफी संवेदनशील होता है. यहां चुंबन करने से महिलाएं न सिर्फ उत्तेजित होती है, बल्कि उनका तनाव भी कम होता है. मानसिक व शारीरिक सुख मिलने से वह खुद को अपने पार्टनर के लिए समर्पित कर देती है.

कलाइयों का भीतरी भाग (Wrists)

महिलाओं की कलाई बहुत कोमल होती है. इसके भीतरी हिस्से में नर्व एंडिंग्स होने के कारण यह बहुत संवेदनशील होती हैं. जब महिलाओं की कलाई को छुआ जाता है तो जल्दी उत्तेजित हो जाती हैं.

होंठ (Lips)

चुंबन करना सेक्स का एक महत्वपूर्ण पार्ट है. किस करने से महिलाओं के सेक्स के प्रति जल्दी उत्तेजित किया जा सकता है. चुंबन से महिला खुद को आसानी से समर्पित करने के लिए तैयार हो जाती है. इसे फोर प्ले के लिए भी सबसे अच्छा तरीका माना जाता है.

कंधे (shoulder)

कई महिलाओं को सिर्फ कंधों पर चूमने भर से काम उत्तेजना बढ़ जाती है. अपने पार्टनर के कंधों को चूमकर यौन संबंध के लिए उत्तेजित जल्दी किया जा सकता है.

स्तन (Breast)

महिलाओं का यह अंग सबसे ज्यादा संवेदनशील होता है. इसे छूने से महिलाएं जल्दी उत्तेजित हो जाती हैं. जब भी पुरुष महिलाओ के स्तनों (Breast) को छूता है तो महिलाये सेक्स के लिए जल्दी उत्तेजित हो जाती हैं. स्तनों (Breast) को धीरे-धीरे सहलाना महिलाओं को ज्यादा अच्छा लगता है.और उन के स्तनों को दबाना महिलाओ को अत्यधिक पसंद है और उन के स्तनों पर किस करना पसंद है सेक्स करने से पहले इसका सही ज्ञान जरूरी है. यही कारण है कि सेक्स एजुकेशन पर जोर दिया जा रहा है.

समाप्त..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here