Home Covid-19 Farmers Protest: कुंडली बार्डर पर आंदोलनकारियों ने फिर बढ़ाई प्रशासन की टेंशन,...

Farmers Protest: कुंडली बार्डर पर आंदोलनकारियों ने फिर बढ़ाई प्रशासन की टेंशन, बढ़ सकता है तनाव

270
0

असल न्यूज़: तीनों कृषि कानूनों को रद्द कराने की मांग को लेकर कुंडली बार्डर पर चल रहे आंदोलन को छह माह पूरे हो गए हैं। आंदोलन लंबा खिंचता देख धरनास्थल पर आंदोलनकारियों ने एक बार फिर से ईंट व सीमेंट से पक्का निर्माण कर लिया है। आंदोलनकारियों ने बार्डर से लेकर केएमपी-केजीपी जीरो प्वाइंट तक इस तरह के करीब 12-14 घर बना लिए हैं। इससे पहले जीटी रोड पर पक्का निर्माण करने पर आंदोलनकारियों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई थी। पक्का निर्माण करने पर पुलिस की ओर से नोटिस देने की बात कही जा रही है।

कृषि कानूनों के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा के नेतृत्व में चल रहे आंदोलन का फिलहाल समाप्त होता नहीं दिख रहा है। सरकार और संयुक्त मोर्चा के सदस्यों के बीच 12 दौर की बातचीत हो चुकी है, लेकिन कोई समाधान नहीं निकला है।

आंदोलन को लंबा खिंचता देख किसानों ने अब बार्डर के पास जीटी रोड के साथ स्थायी पक्के मकान बना लिए हैं। ये मकान ईंट, सीमेंट और गारे से बनाए गए हैं, ताकि धूप व बारिश से वे बच सकें। साथ ही इन पक्के निर्माण से वे यह भी संदेश देना चाहते हैं कि आंदोलनकारी यहां लंबे समय तक डटे रहेंगे। आंदोलनकारियों ने कुंडली बार्डर से लेकर एक्सप्रेस-वे के पुल तक 12 से 14 पक्के मकान बना लिए हैं।

यहां दीवार ईंटों से बनाई गई है, जबकि छत मोटे प्लास्टिक, तिरपाल और बांस-बल्लियों से तैयार किए गए हैं। धरनारत लोगों के अनुसार, वे केवल निर्माण सामग्री के लिए भुगतान कर रहे हैं। घरों का निर्माण आंदोलन में मौजूद कुछ मिस्त्री ही कर रहे हैं। एक प्रदर्शनकारी ने बताया कि आंदोलन की कोई समय-सीमा नहीं है और गर्मी का मौसम जारी है। अब मानसून सिर पर है, इसलिए हमने स्थाई घर बनाए हैं।

पूर्व में भी हुआ था स्थाई निर्माण

जीटी रोड पर करीब तीन माह पहले भी पंजाब के किसान संगठन ने मंजीत सिंह राय के नेतृत्व में जीटी रोड के ऊपर पक्का निर्माण किया था। इसको लेकर एनएचएआइ ने कुंडली पुलिस को शिकायत दी थी, जिस पर मंजीत राय व अन्य पर एफआइआर दर्ज की गई है। हालांकि इस मामले में अब तक पुलिस प्रशासन की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

इसके बाद फिर से पक्का निर्माण होने पर कुंडली थाना प्रभारी रवि कुमार का कहना है कि अवैध रूप से सड़क पर बनाए जा रहे मकान के निर्माण कार्य को पुलिस ने रुकवाया था। इसके बावजूद आंदोलनकारियों ने मकान बना लिए हैं। इसको लेकर एक एफआइआर दर्ज है और अब नोटिस जारी किए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here