Home Crime अशोक विहार थाना पुलिस ने 10 साल से फरार चल रहे हत्यारोपी...

अशोक विहार थाना पुलिस ने 10 साल से फरार चल रहे हत्यारोपी को किया गिरफ्तार

201
0

नीति सेन। अशोक विहार थाना पुलिस ने 10 साल से हत्या के मामले में फरार चल रहे आरोपी को किया। गिरफ्तार आरोपी के खिलाफ धारा 302/201/34/174 आईपीसी की धाराओं के तहत मामला दर्ज है। आरोपी 2011 में फरार हो गया था। जिसके बाद अप्रैल 2012 में न्यायालय द्वारा सुशील अनुज त्यागी की रोहिणी कोर्ट ने आरोपी को भगोड़ा घोषित कर दिया जिसके बाद आरोपी लगातार अपने ठिकाने बदलता रहा व अपनी पहचान छुपा कर अलग-अलग राज्यों में छिपता रहा दिल्ली पुलिस को इस आरोपी की करीब 10 साल से तलाश थी। आखिरकार अशोक विहार थाना पुलिस की टीम को मुखबिर खास से कुख्यात अपराधी के बारे में पता लगा।

जिसके बाद एएसआई विनोद कुमार ने यह बात अपने आला अधिकारियों को बताई जिसके बाद एसएचओ अशोक विहार के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। जिसमें एएसआई विनोद कुमार हेड कांस्टेबल राजेश राणा व कॉन्स्टेबल सुमित को शामिल किया गया। अशोक विहार थाना पुलिस आरोपी शत्रुघ्न उर्फ शत्रु पर 7 साल से गिद्ध की नजर बनाए हुए थी। लगातार अशोक विहार थाना पुलिस उसके गांव में संपर्क साध रही थी। लेकिन कुख्यात अपराधी शत्रुघ्न उर्फ शत्रु मोबाइल का इस्तेमाल नहीं किया करता था। वह रात के अंधेरे में कभी-कभी अपने गांव आता था लेकिन 10 साल बाद दिल्ली पुलिस को कामयाबी हासिल हुई और कुख्यात अपराधी को गिरफ्तार किया गया है। आपको बता दें कि दिल्ली पुलिस की टीम ने आरोपी को बिहार के बेगूसराय इलाके से गिरफ्तार किया है।

आरोपियों ने इस हत्याकांड को अशोक विहार थाना इलाके के अगर नगर में अंजाम दिया था पवन उर्फ बिट्टू एक फैक्ट्री चलाता था। जिसका पैसे का लेन देन लायक राम के साथ था पवन उर्फ बिट्टू ने अपनी फैक्ट्री के दो वर्करों के साथ मिलकर लायक राम की पेचकसो से गोदकर हत्या कर दी थी। हत्या करने के बाद पवन उर्फ बिट्टू ने अपने साथियों के साथ मिलकर लायक राम का सर कंझावला थाना इलाके में फेंक दिया था। जबकि पूरा शरीर पहाड़गंज थाना इलाके में टाटा एस की मदद से फिकवा दिया गया था। जिसकी शिकायत पहाड़गंज थाना में दर्ज कराई गई थी। लायक राम की हत्या के बाद पवन उर्फ बिट्टू ने 4 दिन के बाद ही सुसाइड कर लिया था। पवन उर्फ बिट्टू के सुसाइड के बाद अशोक विहार थाना पुलिस ने रूपचंद को गिरफ्तार किया था। पूछताछ के दौरान रूपचंद ने खुलासा किया कि इनका एक साथी और इस हत्याकांड में शामिल है। जिसका नाम शत्रुघ्न उर्फ शत्रु उर्फ मुकेश राम भी इस हत्याकांड में शामिल है।

फिलहाल अशोक विहार थाना पुलिस गिरफ्तार वांछित अपराधी से लगातार पूछताछ में जुटी है। और यह पता लगाने में लगी है। कि आरोपी ने इस दौरान कितनी वारदातों को अंजाम दिया है। क्योंकि आरोपी पिछले 10 साल से लगातार फरार चल रहा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here