Home Bihar आखिर कैसे बिहार का यह शख्‍स दिल्‍ली मेट्रो में यात्रा के दौरान...

आखिर कैसे बिहार का यह शख्‍स दिल्‍ली मेट्रो में यात्रा के दौरान गंवा बैठा अपना सबकुछ

126
0

असल न्यूज़: दिल्ली-एनसीआर की लाइफलाइन दिल्ली मेट्रो की ट्रेनों में सफर करते हैं तो यह खबर आपके बेहद काम की है। दरअसल, कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में ज्यादातर यात्री कैशलेस सफर कर रहे हैं। टोकन लेने का झंझट भी खत्म सा हो गया है। मेट्रो का स्मार्ट भी इस खूब मदद कर रहा है। ऐसे में शातिर ठगों ने लोगों को चूना लगाने का नया तरीका निकाल लिया है। ऐसे ही एक ठग गिरोह का खुलासा हुआ है, जो दिल्ली मेट्रो के यात्रियों को शातिराना अंदाज में चूना लगाता है। 

जानकारी के मुताबिक, दिल्ली पुलिस की मेट्रो यूनिट ने मेट्रो यात्रियों के साथ नोटों की गड्डी दिखा कर ठगी करने वाले आरोपित को एक नाबालिग के साथ पकड़ा है। आरोपित बवाना के जेजे कालोनी निवासी विकास एक नाबालिग के साथ मिलकर मेट्रो यात्रियों के साथ धोखाधड़ी कर रहा था। आरोपितों के पास से पुलिस ने ठगे गए 25 हजार रुपये मोबाइल फोन व बैग बरामद किया गया है।

मेट्रो यूनिट के डीसीपी जितेंद्र मणि ने बताया कि बिहार के पटना निवासी अंकित कुमार से दोनों आरोपितों ने नोटों की गड्डी दिखा कर उनका बैग, मोबाइल फोन व एटीएम कार्ड ठग लिया था। आरोपितों ने पीड़ित के एटीएम कार्ड से 2500 रुपये भी निकाल लिए थे। पीड़ित को आरोपितों ने बताया कि वह लोग अपने मालिक के यहां से एक लाख रुपये चुरा लाए हैं। पीड़ित को विश्वास में लेने के लिए आरोपितों ने नोटों की गड्डी भी दिखाई थी।

वहीं, दिल्ली पुलिस की पूछताछ में बताया कि आरोपितों ने बताया कि वह इन रुपये को बैंक में जमा करना चाहते हैं लेकिन उन्हें जमा करना नहीं आता ऐसे में पीड़ित को झांसे में लेकर आरोपितों ने ईस्ट आजाद नगर मेट्रो स्टेशन के पास उसका बैग, मोबाइल आदि लेकर फरार हो गए थे। मामले की जांच के लिए इंस्पेक्टर विवेकानंद की देखरख में एसआइ हरीओम, हवलदार राजेश, पवन की टीम ने सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की जांच के आधार पर दोनों आरोपितों को पकड़ लिया। पूछताछ में पता चला कि आरोपित इस तरह की कई वारदात का अंजाम दे चुके हैं। फिलहाल, उनसे पूछताछ की जा रही है।

यहां पर बता दें दिसंबर, 2020 में दिल्ली मेट्रो पुलिस मेट्रो ट्रेन के भीतर और स्टेशन परिसर (Station Premises) में होने वाले अपराध के तरीके पर एक अध्ययन किया था। इसमें पता चला था कि शातिर बदमाश अब मेट्रो परिसर में किसी का पर्स छीन कर भागने के बजाय उससे डिजिटल पाकेटमारी करने को तरजीह दे रहे हैं। यूं भी कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में साइबर क्राइम में 500 गुना इजाफा हुआ है। यह कहना है दिल्ली पुलिस का। शातिर बदमाश भोले भाले मेट्रो यात्रियों को बैंक खाते में पैसा डालने, मेट्रो कार्ड रिचार्ज कराने आदि के नाम पर ठग रहे हैं। लोगों की नासमझी के चलते तकरीबन हर महीने कोई न कोई बड़ी ठगी की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here