Home Delhi दिल्ली: 15-18 साल के बच्चों का आज से वैक्सीनेशन शुरू, 159 सेंटरों...

दिल्ली: 15-18 साल के बच्चों का आज से वैक्सीनेशन शुरू, 159 सेंटरों पर लगेगा टीका, यहां पढें सेंटरों की पूरी लिस्ट

259
0

 राजधनी में आज से 15 से 18 साल के स्टूडेंट्स को वैक्सीन लगाने का काम शुरू होगा। इसके लिए 159 सेंटर्स बनाए गए हैं। इन जगहों पर स्टूडेंट्स के लिए अलग हेल्प डेस्क, अलग ऑब्जरवेशन रूम और अलग वैक्सीनेशन बूथ होंगे, ताकि उन्हें अधिक देर इंतजार न करना पड़े। वहीं, कई प्राइवेट स्कूल अस्पतालों के साथ टाईअप भी कर रहे हैं और स्कूलों में ही इन स्टूडेंट्स के लिए कैंप लगाने की तैयारी की जा रही है।

एक अधिकारी के अनुसार 3 जनवरी को करीब 159 सरकारी केंद्रों पर स्टूडेंट्स का वैक्सीनेशन होगा। हालांकि यह सभी केंद्र किशोरों के लिए एक्सक्लूजिव नहीं हैं, लेकिन उन केंद्रों में किशोरों के लिए अलग बिल्डिंग या अलग कमरों में व्यवस्था की गई है। ताकि इनको वैक्सीन के लिए लंबा इंतजार न करना पड़े।


पश्चिमी जिले के अनुसार स्टूडेंट्स को सिर्फ कोवैक्सीन दी जानी है। स्टूडेंट्स के लिए सेंटर में अलग से विंग है। इन विंग में आने जाने के रास्ते भी सामान्य वैक्सीनेशन बूथ से अलग हैं। इसके अलावा सोमवार से हम स्कूलों को भी कहेंगे कि वह स्टूडेंट्स को वैक्सीन लेने के लिए अधिक से अधिक प्रेरित करें। ऑबजर्वेशन रूम में उन पर नजर रखी जाएगी। यदि स्टूडेंट को वैक्सीन लेने के बाद कुछ परेशानी होती है, तो उनके लिए इंतजाम किए जाएंगे। हिंदूराव अस्पताल, गिरधारी लाल अस्पताल, कस्तूरबा गांधी अस्पताल, मौलाना आजाद मेडिल कॉलेज, चरक पालिका अस्पताल आदि में सेंटर्स बनाए गए हैं। अधिकारियों के अनुसार स्कूलों से इस बारे में सहयोग मांगा जा रहा है। हम चाहते हैं कि सभी सरकारी, गवर्नमेंट एडेड और प्राइवेट स्कूल के जो स्टूडेंट्स इस आयुवर्ग में आ रहे हैं, जल्द से जल्द वैक्सीन ले लें। इसके लिए क्लास टीचर्स को भी कहा गया है कि बच्चों के पैरेंट्स को वैक्सीनेशन के बारे में पूरी जानकारी दें।

पालम के कन्या विद्यालय स्कूल से मिली जानकारी के अनुसार उन्होंने सभी पैरेंट्स को इससे जुड़े मेसेज भिजवा दिए हैं। हालांकि कई पैरेंट्स ने स्कूलों को राय दी है कि स्कूल में ही वैक्सीन लगवाई जाए। ऐसे में हम प्रयास कर रहे हैं कि कुछ मोबाइल वैन या कैंप स्कूल में ही लग जाए।

प्राइवेट स्कूलों में भी कैंप की कोशिश
वहीं, प्राइवेट स्कूलों से मिली जानकारी के अनुसार उनकी कोशिश है कि वह स्कूल कैंपस में ही प्राइवेट अस्पतालों के साथ मिलकर कैंप का आयोजन करें, ताकि उनके स्टूडेंट्स को वैक्सीन के लिए कहीं और जाने की जरूरत न पड़े। द्वारका के आईटीएल स्कूल से मिली जानकारी के अनुसार स्कूल प्राइवेट अस्पताल से मिलकर वैक्सीन कैंप लगाने की कोशिश कर रहा है। इसके लिए जिला प्रशासन और प्राइवेट अस्पताल से बातचीत शुरू कर दी है।


वहीं, कुछ स्कूलों में स्टूडेंट्स और पैरेंट्स को वैक्सीन के लिए प्रेरित करने के लिए सोमवार से वेबिनार भी आयोजित किए जाएंगे। साथ ही पैरेंट्स को वैक्सीन अवेयरनेस से जुड़े कुछ वीडियो भी शेयर किए जाएंगे। राजधानी में करीब 10 लाख स्टूडेंट्स इस आयु वर्ग में हैं।

कहां कितने सेंटर्स में लगेगी वैक्सीन

  • सेंट्रल दिल्ली- 17
  • ईस्ट दिल्ली- 15
  • नई दिल्ली- 18
  • नॉर्थ दिल्ली- 11
  • नॉर्थ ईस्ट दिल्ली- 16
  • नॉर्थ वेस्ट दिल्ली- 12
  • शाहदरा- 10
  • साउथ दिल्ली- 11
  • साउथ ईस्ट दिल्ली- 13
  • साउथ वेस्ट दिल्ली- 21
  • वेस्ट दिल्ली- 15

दिल्ली-एनसीआर में पूरी है तैयारी

  • 15-18 उम्र के किशोरों के लिए दिल्ली में 159 वैक्सिनेशन सेंटर, एनसीआर में 200 से ज्यादा हैं।
  • गुड़गांव में 77, फरीदाबाद में 48, गाजियाबाद में 60, नोएडा में 27 केंद्रों पर लगेगा टीका।
  • इन सेंटरों में किशोरों के टीकाकरण, हेल्प डेस्क, ऑब्जरर्वेशन रूम का अलग इंतजाम है।
  • सरकारी केंद्रों पर फ्री, प्राइ‌वेट में 1200 से 1410 रुपये तक लिए जा रहे हैं।
  • कुछ प्राइवेट अस्पतालों में ड्राइव थ्रू की सुविधा यानी गाड़ी में बैठे-बैठे लगवाएं टीका।
  • सर्दी, खांसी, जुकाम, बुखार या अन्य समस्या हो तो टीके से पहले डॉक्टर की सलाह लें।
  • स्कूलों ने पैरेंट्स को भेजे हैं मेसेज, बच्चों को टीका लगवाने के लिए प्रेरित करें।
  • दिल्ली में करीब 10 लाख किशोर 15 से 18 साल के हैं, जिन्हें टीका लग सकता है।

वैक्सीनेशन कराने वाले स्टूडेंट्स के लिए जरूरी बातें


स्टूडेंट्स कोविन वेबसाइट, आरोग्य सेतु ऐप के जरिए रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। वैक्सीनेशन के लिए वॉक इन की भी सुविधा है। रजिस्ट्रेशन के लिए कोई शुल्क नहीं है।

  • यदि आपका जन्म 31 दिसंबर 2007 से पहले हुआ है, तो आप वैक्सीन लगवा सकते हैं।
  • यदि आप किसी बीमारी से जूझ रहे हैं, तो वैक्सीन लेने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह करें। साथ ही वैक्सीनेटर को भी इस बारे में जानकारी दें।
  • वैक्सीन लगने के बाद कुछ नॉर्मल साइड इफेक्ट्स जैसे हल्का बुखार, सूजन, डिजिनेस, दर्द और बेचैनी आदि हो सकती है। यह एक से दो दिन में ठीक हो जाते हैं। लेकिन यदि कोई साइड इफेक्ट गंभीर नजर आता है जैसे एलर्जी, किसी तरह का इन्फेक्शन, तेज बुखार तो डॉक्टर को रिपोर्ट जरूर करें। अभी तक गंभीर साइड इफेक्ट के मामले बेहद ही कम सामने आए हैं।
  • वैक्सीनेशन के बाद बैलेंस डाइट लें, ताजे फल सब्जियां खाएं।
  • वैक्सीन लेने से पहले और बाद में सहज रहें, वैक्सीन को लेकर घबराए नहीं और न ही इस बारे में ज्यादा सोचें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here