Home Delhi ओमिक्रॉन के लक्षण दिखने पर खाएं ये फूड, मिलेंगे कई फायदे

ओमिक्रॉन के लक्षण दिखने पर खाएं ये फूड, मिलेंगे कई फायदे

361
0

देश में ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर कई मरीजों के साथ भूख न लगने की समस्या भी हो जाती है. ऐसे में लोग ये समझ नहीं पाते कि उन्हें कौन से फूड का सेवन करना चाहिए, जो लोग ओमिक्रॉन, डेल्टा या इन्फ्लुएंजा से संक्रमित होते हैं, उनमें भूख की कमी हो जाती है. ओमिक्रॉन होने पर गले में बहुत दर्द होता है और ऐसा लगता है जैसे गले में कुछ चुभ रहा है. यहां तक कि कोई तरल पदार्थ पीने पर भी गले में दर्द होता है. जानिए किन चीजों का सेवन आपके लिए फायदेमंद होगा और गले के दर्द में भी इसे खाना आपके लिए मुश्किल नहीं होगा. 

दही

खराब गला और भूख न लगने के कारण कुछ खाने का मन नहीं करता. ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर दही का सेवन आपके लिए अच्छा होगा. इसमें प्रोटीन की भरपूर मात्रा होती है और इसे निगलने में आपको तकलीफ नहीं होगी. दही के साथ केला भी खा सकते हैं. नरम प्रोबायोटिक्स खाद्य पदार्थों का सेवन आपको फायदा पहुंचाएगा.

सूप 

गले को आराम देने और पोषण के लिए सूप भी पी सकते हैं. सूप में सब्जियां डालें और इसका सेवन करें. इससे फायदा मिलेगा. 

हरी पत्तेदार सब्जियां

पत्तेदार या क्रूस वाली सब्जियों का सेवन भी आपके लिए फायदेमंद होगा. पालक, सरसों, पत्तागोभी, फूल गोभी मैश करके खाएं. इसके अलावा मेथी की सब्जी भी खा सकते हैं. इससे संक्रमण से लड़ने में मदद मिलेगी. 

प्रोटीन से भरपूर चीजें खाएं

ओमिक्रॉन के मरीजों के लिए जरूरी है कि वो हल्का खाना खाएं. आप प्रोटीन शेक का सेवन कर सकते हैं. गले में दर्द हो तो प्रोटीन पाउडर को दूध या पानी में मिलाकर भी पी सकते हैं. 

इलेक्ट्रोलाइट्स वाली ड्रिंक पिएं

ओमिक्रॉन संक्रमितों के लिए लिक्विड पदार्थ का सेवन करना बेहद जरूरी है. ऐसी ड्रिंक पिएं जिसमें इलेक्ट्रोलाइट्स हों, खासकर दस्त और उल्टी की समस्या में. इलेक्ट्रोलाइट्स वाली ड्रिंक पीने से शरीर में सोडियम की मात्रा भी नॉर्मल रहेगी. इलेक्ट्रोलाइट्स ड्रिंक के रूप में इलेक्ट्रल पाउडर (Electral Powder) का सेवन कर सकते हैं.

साइट्रस फल न खाएं

साइट्रस वाले फलों में विटामिन सी काफी मात्रा में पाया जाता है. ये इम्यूनिटी को बूस्ट करते हैं, लेकिन साइट्रस फ्रूट में थोड़ा सा टार्ट होता है, जिसकी वजह से इन्हें निगलना मुश्किल हो सकता है. ओमिक्रॉन के मामले में मरीजों को गले में खराश का अनुभव होता है, ऐसे में खट्टे फलों का सेवन करने से गले की समस्या और बढ़ सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here