Home Crime सिविल इंजीनियर और उसके साथी ड्रगस के लिये कर रहे थे वारदात,पकड़े

सिविल इंजीनियर और उसके साथी ड्रगस के लिये कर रहे थे वारदात,पकड़े

91
0

असल न्यूज़: अकेला देखकर व्यक्ति से लूट व झपटमारी की वारदात को अंजाम देकर राहगीरों को अपनी झूठी कहानी बनाकर लूटा हुआ फोन बेचकर ड्रगस का सेवन करने वाले एक सिविल इंजीनियरिंग डिप्लोमा धारक को उसके साथी के साथ मुंडका पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान शंकर गार्डन, बहादुरगढ़, हरियाणा के रहने वाले अशोक और दीपक उर्फ दीपू के रूप में हुर्ई है। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से लूटा हुआ फोन बरामद कर दो वारदातों का खुलासा किया है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बीते वीरवार को मुंडका पुलिस को प्राथमिक विद्यालय टिकरी गांव इलाके में एक युवक का मोबाइल फोन छिनने और एक आरोपी को पकडऩे की कॉल मिली थी। पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची,जहां पर एक बदमाश को पब्लिक बुरी तरह से मार रही थी। जिसको काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने पब्लिक से छुड़वाकर उसे पकड़ लिया।

शिकायतकर्ता राम प्रसाद ने बताया कि वह दोपहर करीब पौने दो बजे टिकरी गांव में अपने घर की ओर फोन पर बात करते हुए जा रहा था। पीछे से आरोपी दौड़ता हुआ आया और उसका फोन जबरन लूट लिया। जिसने उसका शोर मचाकर पीछा किया। पब्लिक की सहायता से उसको पकड़ लिया। जबकि आरोपी ने फोन अपने एक अन्य साथी को दे दिया था। जो मौके पर से फरार होने में कामयाब हो गया।

पब्लिक ने आरोपी को पकडक़र बुरी तरह से मारा। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया। जिसकी पहचान अशोक के रूप में हुई। आरोपी से पूछताछ करने पर पता चला कि वह सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा धारक है लेकिन बुरी संगत में शामिल होने के कारण उसने पढ़ाई छोड़ दी और ड्रग्स और शराब का सेवन करने लगा। उसके पड़ोसी दीपक से उसकी दोस्ती हो गई और वह दोनों साथ में ड्रग्स और शराब लेने लगे।

अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए दोनों ने चोर बनने की साजिश रची और छोटे-मोटे अपराध करने लगे। वे दोनों विभिन्न आपराधिक मामलों में शामिल रहे हैं और कई बार सलाखों के पीछे रहे हैं। चोरी का सामान राहगीरों को बेच देते थे और पैसे आपस में बांट लेते थे। उसने उक्त अपराध में शामिल होने का खुलासा किया और बताया कि जैसे ही भीड़ इक_ा होने लगी उसने छीना हुआ मोबाइल फोन उसके साथी दीपक को दे दिया, जो उसके घर के पास रहता है. उसके कहने पर फरार आरोपी के ठिकाने पर छापेमारी की गई और काफी मशक्कत के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

उससे भी गहन पूछताछ की गई और उसके कहने पर छीना गया मोबाइल फोन बरामद कर लिया गया। आरोपी अशोक पर सात जबकि दीपक चार वारदातों में शामिल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here