Home PM Modi अलीगढ़ में पुलिस ने बुलडोजर के साथ किया फ्लैग मार्च, दौड़ते रहे...

अलीगढ़ में पुलिस ने बुलडोजर के साथ किया फ्लैग मार्च, दौड़ते रहे अफसर; नहीं मिले दिल्ली जाने वाले युवा

72
0

असल न्यूज़: अग्निपथ योजना के विरोध में उपद्रव के बाद सोमवार को पुलिस सुबह से अलर्ट रही। युवाओं के भारत बंद के आह्वान पर पुलिस अफसरों का काफिला फोर्स के साथ दिन भर दौड़ता रहा। लेकिन दिल्ली जाने वाले युवा नहीं मिले। जिसके बाद पुलिस ने राहत की सांस ली। कुछ क्षेत्रों में पुलिस फोर्स ने बुलडोजर लेकर फ़्लैग मार्च निकाला। उपद्रवियों के हौसले पस्त करने के लिए पुलिस फोर्स ने खैर कस्बे में बुलडोजर लेकर फ्लैग मार्च निकाला। मार्च में कई बुलडोजर शामिल किये। गोमत चौराहे पर कई बुलडोजर लगाकर पुलिस फोर्स ने वाहनों की चेकिंग की।

युवाओं ने शुक्रवार को एक्सप्रेस-वे और टप्पल-जट्टारी मार्ग बाधित कर वाहनों, पुलिस चौकी आदि में तोड़फोड़ व आगजनी की थी। उपद्रव में कई पुलिसकर्मी चोटिल हो गये थे। मामले में पुलिस ने चार मुकदमे दर्ज कर उपद्रवियों की गिरफ्तारी के लिए दस टीमों को लगा रखी हैं। जिनमें कुल 118 गिरफ्तारी हो चुकी हैं। पुलिस का गिरफ्तार अभियान अभी जारी है। सोमवार को युवाओं ने भारत बंद कर दिल्ली चलों का आह्वान किया था। देश भर में युवाओं का यह इनपुट मिलने के बाद अलीगढ़ में सीमाओं पर चौकसी बढ़ा दी गई। सभी हाईवे से लेकर टोल प्लाजा पर सघन चेकिंग अभियान चलाया गया। अफसरों का काफिला सुबह से शाम तक इनपुट के आधार पर दौड़ता रहा। लेकिन शाम तक कोई युवा दिल्ली जाने वाले नहीं दिखायी दिये।

डीएम इंद्र विक्रम सिंह और एसएसपी कलानिधि नैथानी एसपी देहात व एसपी सिटी के साथ शहर व ग्रामीण क्षेत्रों का दिन भर भ्रमण करते रहे। हर चौराहें पर युवाओं की बारीकी से चेकिंग की गई। मोबाइल आदि चेक कर कई को हिरासत में भी लिया गया।

10 से ज्यादा संदिग्ध उठाए, जेल भेजने की तैयारी
पुलिस ने कई संदिग्धों को सोमवार को भी पूछताछ के लिए उठाया है। उनको पूछताछ के बाद जेल भेजने की तैयारी की जा रही है। इससे पहले पुलिस की ओर से 118 युवाओं को गिरफ्तार किया जा चुका है। इनमें नौ कोचिंग संचालक भी शामिल है।

अधिकारियों ने सुबह से ही किया गांवों में संवाद
डीएम और एसएसपी समेत अन्य अधिकारियों ने सोमवार को सुबह ही ही खेरेश्वर, लोधा, खैर, जट्टारी व टप्पल पहुंचकर कई गांवों में दस्तक की और ग्रामीणों से संवाद किया। अभिभावकों से कहा गया कि वह अपने युवाओं को घरों के अंदर ही रखें। किसी के बहकावे में न आएं। अन्यथा उनके लाड़लों का जीवन कानूनी कार्रवाई में फंसकर खराब हो सकता है।

खेरेश्वर चौराहे पर इकह्वा होने का किया था आह्वान
युवाओं ने सोमवार सुबह दिल्ली जाने के लिए खेरेश्वर चौराहे पर इकह्वा होने का आह्वान किया था। इस इनपुट का मिलने के बाद पुलिस फोर्स बड़ी संख्या में खेरेश्वर चौराहे पर लगायी गई थी। लेकिन शाम तक कोई भी युवा वहां नहीं पहुंचा। युवाओं को चेकिंग का सामना करना पड़ा। परेशानी का भी सामना करना पड़ा।इस बीच सोमवार को पुलिस ने आठ लोगों को शांति भंग में पाबंद भी किया है।

चप्पे-चप्पे पर तैनात रही पुलिस फोर्स
टप्पल से लेकर लोधा तक चप्पे चप्पे पर पुलिस फोर्स तैनात रही। राहगीरों को निकलने में परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा। लेकिन युवाओं को मार्ग से निकलने में अपनी चेकिंग जरूर करानी पड़ी। सुबह फोर्स सुबह से देर शाम तक तैनात रही।

हरियाणा यूपी बार्डर पर रखी पूरी नजर
दिल्ली चलो को लेकर पुलिस फोर्स का सबसे ज्यादा फोकस हरियाणा-यूपी बॉर्डर पर रहा। यहां सबसे अधिक फोर्स लगायी गई थी। अधिकारियों का काफिला दिन भर यहां दौड़ता रहा। वहीं दिल्ली जाने वाले मार्गो व स्टेशन पर दिन भर अधिक सावधानी बरती गई।

पीएसी की पांच कंपनियां तैनात
टप्पल-जट्टारी में उपद्रव के बाद पीएसी की पांच कंपनियां तैनात हैं। पीएसी के जवान क्षेत्र की हर गतिविधि पर बारीकी से नजर रख रहे हैं। स्थिति यह है कि कोई भी युवा सड़क पर नजर आ रहा है तो उसको लाठियां दिखाते हुए वापस किया जा रहा है।

भारत बंद व दिल्ली चलो के नारा जिले में पूरी तरह फेल साबित रहा। उपद्रव में अभी तक 118 गिरफ्तारी हो चुकी है। गिरफ्तारी अभियान जारी है। कई संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। विभिन्न गांवों में संवाद के साथ प्रमुख क्षेत्रों में फ्लैग मार्च निकाला गया। कहीं भी कोई प्रदर्शनकारी इकह्वा नहीं हुए।
कलानिधि नैथानी, एसएसपी, अलीगढ़

जनपद में पुलिस प्रशासन की टीम अलर्ट थी। किसी स्थान पर भारत बंद का कोई असर नहीं रहा। 50 व्यक्तियों की पहचान कर जेल भेजा गया एवं 50 से अधिक लोगों पर शान्ति भंग के आरोप में कार्रवाई की गई है।
इंद्र विक्रम सिंह, डीएम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here