Home Delhi दिल्ली में राखी बंधवाने बहन के घर जा रहा था भाई, रास्ते...

दिल्ली में राखी बंधवाने बहन के घर जा रहा था भाई, रास्ते में गले में फंसा चाइनीज मांझा और हो गई मौत

99
0

दिल्ली में चाइनीज मांझा की वजह से एक और मौत हो गई है। राखी बंधवाने के लिए एक भाई अपनी बहन के घर जा रहा था, इसी दौरान चाइनीज मांझा उसके गले में फंस गया और उसकी मौत हो गई। गुरुवार को बाइक से पत्नी के साथ बहन के यहां रक्षाबंधन मनाने के लिए बिपिन दिल्ली से सटे लोनी जा रहा था। इसी दौरान शास्त्री पार्क फ्लाईओवर पर उसके गले में चाइनीज मांझा फंस गया था, जिसके बाद वह बूरी तरह से घायल हो गया। पत्नी ने आसपास मौजूद लोगों से मदद की गुहार लगाई। जिसके बाद विपिन को सिविल लाइन के ट्रामा सेंटर में ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

बाइक चलाते वक्त गले में लगा चाइनीज मांझा

मृतक की पहचान 35 वर्षीय विपिन कुमार के तौर पर हुई है। वह नागलोई के राजधानी पार्क का रहने वाला था। जिसे मांझे से उसकी मौत हुई, उसे चाइनीज मांझा कहा जाता है। नागलोई के राजधानी पार्क के 35 वर्षीय विपिन कुमार अपनी बहन के साथ लोनी में रक्षा बंधन मनाने जा रहे थे। वह शास्त्री पार्क फ्लाईओवर पर अपनी पत्नी के साथ बाइक चला रहा था, तभी उसकी गर्दन में तेज तार लग गया, जिससे वह तुरंत घायल हो गया। आसपास के लोगों की मदद से उसकी पत्नी उसे सिविल लाइंस के ट्रॉमा सेंटर ले गई जहां पहुंचने पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

कोर्ट एक जनहित याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जिसमें पतंगों के उड़ने, बिक्री, खरीद, भंडारण और परिवहन पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की मांग की गई थी क्योंकि कांच की परत से होने वाली दुर्घटनाओं के कारण कई लोग और पक्षी मारे जाते हैं या घायल होते हैं। बता दें कि अतीत में भी कई ऐसी दुर्घटनाएं हुई हैं, जिसके बाद दिल्ली में 2016 से इसे प्रतिबंधित कर दिया गया है। लेकिन फिर भी ये व्यापक रूप से उपयोग किए जा रहे हैं। इस महीने दिल्ली में ये मांझा से हुई दूसरी मौत है। पुलिस के मुताबिक शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और मामले की जांच की जा रही है। इस महीने की शुरुआत में, दिल्ली हाई कोर्ट ने शहर की पुलिस को राष्ट्रीय हरित अधिकरण द्वारा पतंग उड़ाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले चीनी सिंथेटिक मांझा की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने के लिए उठाए गए कदमों के बारे में सूचित करने के लिए कहा था।

स्वतंत्रता दिवस पर अलग-अलग हादसों में तीन और चार साल के दो बच्चों की मौत के बाद दिल्ली सरकार ने 2016 में चीनी मांझे पर प्रतिबंध लगा दिया था। पुलिस ने कहा कि बच्चे कारों में सनरूफ से बाहर देख रहे थे, उस दौरान चाइनीज मांझा उनके गले लग गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here