Home Crime लड़की को कपड़े उतारते देख खुशी से झूम उठा 76 साल का...

लड़की को कपड़े उतारते देख खुशी से झूम उठा 76 साल का बूढ़ा, थोड़े ही देर बाद हुआ ऐसा कि पैरों तले खिसक गई जमीन

115
0

दिल्ली। आजकल बहुत से लोग सेक्सटॉर्शन का शिकार हो गए हैं। इनमे से कई लोग शर्म और अपनी इज्जत बचाने के लिए पुलिस के पास जाना भी गलत समझते है। ऐस यही एक मामला राजधानी दिल्ली से सामने आया है। यहां एक 76 साल के बुजुर्ग सेक्सटॉर्शन का शिकार हो गए। रिटायरमेंट के बाद हंसी-खुशी अपना जीवन व्यतीत करने वाले बुजुर्ग की 7 अगस्त को आए एक कॉल ने जिंदगी बर्बाद कर दी। एक मीडिया को इंटरव्यू के दौरान उन्होंने अपनी आप बीती सुनाई।

मिली जानकारी के अनुसार 7 अगस्त को दिल्ली निवासी एक बुजुर्ग को एक वीडियो कॉल आता है। इस एक कॉल ने उनकी जिंदगी नर्क बना दी। इस पुरे मामले में एक अच्छी बात ये रही कि बुजुर्ग को सेक्सटॉर्शन की कॉल तब आती है। जब वह अपने परिचितों के साथ बैठकर बातें कर रहे थे। उस दौरान उनके फोन पर बार-बार कॉल आ रहा था लें वो रिसीव नहीं कर रहे थे। तब वहां मौजूद एक बुजुर्ग ने उनके हाथ से फोन छीन लिया। इसके बाद इस मामले का खुलासा हुआ। इसके बाद बुजुर्ग ने अपने परिचित को बताया कि 7 अगस्त को उनके पास एक विडियो कॉल आई। कॉल उठाते ही उनके सामने एक न्यूड लड़की आ गई, जो अश्लील हरकतें करने लगी।

उन्होंने बताया कि लगभग एक से डेढ़ मिनट तक यह सिलसिला ऐसे ही चलता रहा। तभी अचानक एक लड़की का कॉल आया, जो धमकी देते हुए उनसे 50 हजार रुपये की डिमांड करने लगी। लड़की ने धमकी दी कि अगर रकम नहीं दी, तो उनके फोन के कॉन्टैक्ट की लिस्ट में शामिल सभी नंबरों पर अश्लील विडियो भेज दिया जाएगा। इस बात से बुजुर्ग घबरा गए और वह परेशान रहने लगे।

सांसद के घर बैठे थे, कथित साइबर क्राइम इंस्पेक्टर का आया कॉल
दरअसल, बुजुर्ग 10 अगस्त को आईटीओ स्थित हंस भवन में आयोजित एक समारोह में शामिल हुए थे। इसके बाद परिचितों के साथ कार से नॉर्थ एवेन्यू में एक सांसद से मिलने जा रहे थे। इसके बाद दोपहर लगभग 12:30 बजे खुद को साइबर क्राइम का इंस्पेक्टर जितेंद्र कुमार बताते हुए एक कॉल बुजुर्ग के पास आई। वह कहने लगा कि आपके खिलाफ एक लड़की ने मुकदमा लिखवाया है, आप कहां मिलेंगे। साइबर क्राइम पुलिस के कॉल से बुजुर्ग घबरा गए और सफाई देने लगे। दूसरी तरफ से कथित साइबर क्राइम इंस्पेक्टर धमकाने लगा। बुजुर्ग ने कॉल कटा तो दूसरा कॉल आ गया। इस बार दूसरा शख्स कहने लगा कि आपके खिलाफ की गई कंप्लेंट को खत्म और यू-ट्यूब में डाले विडियो को डिलीट कर देंगे, लेकिन उन्हें 17,200 रुपये का फाइन भरना होगा। कार में बैठे लोगों को माजरा समझ नहीं आ रहा था। सभी सांसद के घर बैठे थे। तभी अचानक फिर से एक कॉल आई। बुजुर्ग ने बाहर निकलकर किसी दूसरे शख्स से रकम बताए खाते में डलवा दी। अभी बुजुर्ग भीतर आए ही थे फिर कॉल आ गई। फोन करने वाला कहने लगा कि एक विडियो तो डिलीट हो गई है। दूसरी विडियो डिलीट करवाने के लिए 22 हजार रुपये और देने पड़ेंगे। बुजुर्ग सफाई देने लगे तो बगल में बैठे शख्स ने उनसे फोन छीन लिया।

दूसरे बुजुर्ग ने दिखाई समझदारी
बुजुर्ग को डरा-सहमा देखकर वहां उपस्थित सभी लोग सोच में पड़ गए। इसके बाद बुजुर्ग की ऐसी हालत देखकर वह मौजूद एक शख्स समझ गया कि सामने वाला उन्हें ब्लैकमेल कर रहा है। इसके बाद उन्होंने खुद को साइबर क्राइम का इंस्पेक्टर बता रहे युवक को जमकर खरी-खोटी सुनाई। जालसाज कहने लगा कि आप कानून हाथ में ले रहे हैं। इसका अंजाम बुरा होगा। बुजुर्ग के साथी ने कॉल करने वाले की जमकर खबर ली। दूसरे बुजुर्ग की इस समझदारी के चलते बुजुर्ग का पीछा ब्लैकमेलरों छूटा। इसके बाद साइबर हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर पूरे मामले की जानकारी दी गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here