Home Crime चोरी के शक में कराई तांत्रिक क्रिया, फिर नौकरानी को निर्वस्त्र कर...

चोरी के शक में कराई तांत्रिक क्रिया, फिर नौकरानी को निर्वस्त्र कर पीटा, मालकिन गिरफ्तार

85
0

दक्षिणी दिल्ली के मैदान गढ़ी इलाके में स्थित एक कोठी में तांत्रिक क्रिया के बाद वहां काम करने वाली महिला को निर्वस्त्र कर बंधक बनाने और उसकी जमकर पिटाई करने का मामला सामने आया है. पुलिस ने इस संबंध में महिला की शिकायत पर कोठी की मालकिन के खिलाफ केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है.

दरअसल मैदान गढ़ी थाने को सूचना मिली कि छतरपुर के क्रोनस अस्पताल में एक महिला लाई गई है, जिसने जहर खा लिया है. पुलिस इस सूचना पर वहां पहुंची तो पता चला कि 43 वर्षीय यह महिला सतबारी स्थित अंसल विला में बतौर घरेलू सहायिका काम करती है और वहां की प्रताड़ना से तंग आकर उसने आत्महत्या करने की कोशिश की.

महिला ने पुलिस को अपनी शिकायत में बताया कि वह अंसल विला में पिछले 2 साल से काम कर रही है. उसका पति भी वहां गार्ड का काम करता है. उसने बताया कि करीब 10 महीने पहले कोठी से उसकी मालकिन गुलरेज के कुछ सोने के गहने चोरी हो गए थे. मालकिन घर में काम करने वाले नौकरों पर शक था.

उसने बताया कि इस शक में मालकिन ने पिछले मंगलवार एक तांत्रिक को बुलाया, जिसने सारे काम करने वालों के मुंह में चावल और चुना रखते हुए कहा कि जिसके मुंह में चावल और चूना लाल रंग का हो जाएगा, वही चोर है. चूने और चावल से मेरा मुंह अंदर से लाल हो गया तो तांत्रिक ने कहा कि मैं ही चोर हूं.

महिला का आरोप है कि इसके बाद मालकिन और उसकी मां उसे बच्चों वाले कमरे में ले गई, जहां उसके हाथ-पैर रस्सी से बांध दिए और चोरी का जुर्म कबूल करने का दबाव बनाया. वह जब नहीं मानी तो उसे रात को वैसे ही कमरे में छोड़कर चले गए.

पुलिस में दर्ज शिकायत में महिला ने बताया कि ‘सुबह 6 बजे के करीब मालकिन गुलरेज, मालिक बबलू, मालकिन की मां व भाभी कमरे में आए. इस दौरान मालकिन और उसकी मां ने मेरे सारे कपड़े उतार दिए. उन सभी ने मिलकर मुझे बेलन चप्पल जूतों व लातों से मारना शुरू कर दिया. मैंने उनकी मार से बचने के लिए कबूल कर लिया कि मैंने ही चोरी की है और उनको बताया कि चोरी किया हुआ सामान मैंने गांव में अपनी संदूक में रखा हुआ है.

महिला बताती है, मालिक ने मेरे पति को चोरी का सामान लेने के लिए गांव के घर भेज दिया. इसके बाद मैंने बोला कि मुझे टॉयलेट जाना है तो उन्होंने मुझे मेरे कपड़े वापस दे दिए. मुझे टॉयलेट करवाने के बाद वो सब मुझे मेरे कमरे में लेकर गए वह मेरे कमरे की तलाशी लेने लगे. इस दौरान मेरे हाथ चूहे मारने की दवा लग गई.’

महिला का आरोप है कि वह अपनी मालकिन, मालिक, मालकिन की मां और भाभी की यातनाओं, जलालत और मारपीट से परेशान होकर चूहे मारने की दवा खा गई. पीड़िता की इस शिकायत पर पुलिस ने IPC की धारा 330/323/341/506/34 के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है और उसकी मालकिन को गिरफ्तार कर लिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here