Home Delhi NCR बागेश्वर धाम सरकार का बयान: ये तो ट्रेलर है अभी और चुनौतियां...

बागेश्वर धाम सरकार का बयान: ये तो ट्रेलर है अभी और चुनौतियां आएंगी, ये सनातन को मिटाने की साजिशें कर देंगे

105
0

बागेश्वर धाम सरकार पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर के अंधविश्वास फैलाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। अब इस मामले पर खुद बागेश्वर धाम सरकार ने एक वीडियो जारी कर अपना पक्ष रखा है। सोशल मीडिया पर बागेश्वर धाम सरकार के ऑफिशियल टविटर हैंडल पर पं. धीरेंद्र शास्त्री ने एक वीडियो जारी कर कहा कि हमें इस विषय पर ज्यादा पड़ना नहीं है और ना जरूरी है। जब से सनातन धर्म के लिए घर वापसी का मुद्दा उठाया तब से आये दिन षड़यंत्र लगातार किए जा रहे हैं। हमें डिगना नहीं है, रूकना नहीं है। बस आप लोगों से प्रार्थना है कि आप लोगों को बहुत सक्रिय होना है। और आपको दीपक ये बुझने नहीं देना है। और नागपुर वाले विषय पर उन्होंने कोई लीगली चुनौती नहीं दी, न कार्ड भेजा, हमने उनको रायपुर आह्वान किया को दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा। लेकिन नागपुर वाले विषय पर हम समिति के अध्यक्ष से कहेंगे कि कभी आपने पादरी के ऊपर उंगली क्यों नहीं उठाई, वो जो धर्मांतरण करते हैं उसके ऊपर आपने उंगली

क्यों नहीं उठाई? हम कभी भी अंधविश्वास नहीं फैलाते, हनुमान जी के नाम से प्रार्थना करते हैं और अगर किसी का कल्याण हो जाता है तो ये ईष्ट चमत्कार.. आपने कहा जादू-टोना तो क्या ईष्ट को प्रार्थना करना जादू टोना है। अपने ईष्ट को प्रार्थना करना और लोगों को कल्याण हो जाना क्या जादू टोना है। अगर ऐसा है तो फिर भारत के प्रत्येक व्यक्ति जेल जाने योग्य है। सनातनी प्रत्येक जेल के योग्य है। भर दो सब सनातनियों को जेल में और आप निर्णय कैसे करेंगे कि ये श्रद्धा है या अंध श्रद्धा है। इस भारत में कितने ज्योतिषाचार्य नहीं हैं जो ग्रहों की चाल बताते हैं। तो क्या वो अंध विश्वास है उनको भी फिर जेल जाना चाहिए।

पं. शास्त्री ने वीडियो में आगे कहा कि भारत की परंपराओं में कितनी मान्याताएं ऐसी नहीं हैं जो मान्यताएं समझ से परे हैं लेकिन वो उनकी निजी श्रद्धा है। हमारी हनुमान जी के प्रति अपनी निजी श्रद्धा है। लोग आते हैं। जैसे पिता पुत्र की बीमारी पर प्रार्थना करता है कि इसका भला हो वैसे ही हम गुरू होने के नाते अपने शिष्य के कल्याण के लिए प्रार्थना करते हैं और हमारे ईष्ट वैसी कृपा कर देते हैं तो क्या ये अंधविश्वास है। ज्यादा हमें सफाई नहीं देनी है ये अंतिम वीडियो है हमारा, क्योंकि बहुत ज्यादा समय बर्बाद करने से हम अपने लक्ष्य से भटक जाएंगे। हम धर्मांतरण रोकेंगे और घर वापसी कराएंगे। हम साधु संतों का साथ लेकर आशीर्वाद लेकर पूरे भारत में झंडा लगाएंगे। ये तो अभी ट्रेलर है अभी बड़ी-बड़ी चुनौतियां आएंगी और हम लोग अभी डर गए, डिग गए जाएंगे मुर्दा हो जाएंगे। ये लोग हमारे ऊपर अत्याचार कर देंगे, सनातन को मिटाने की साजिशें कर देंगे।

बता दें, बागेश्वर धाम सरकार पं. शास्त्री 5 से 11 जनवरी तक नागपुर में कथा कराने गए थे, इसी दौरान नागपुर की अंध श्रद्धा निर्मूलन संस्था ने उन पर अंधविश्वास फैलाने का आरोप लगाया, वहीं पं. शास्त्री ने अपनी कथा भी दो दिन पहले खत्म कर दी और नागपुर से वापस चले आए। फिलहाल वो छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में रामकथा करा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here