Home Blog Page 2

शादी का झांसा देकर युवती का यौन शोषण करता रहा एयरफोर्स अधिकारी, गर्भवती होते ही छोड़कर भागा

0

असल न्यूज़: एयरफोर्स अधिकारी पर युवती को शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने युवती की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ गुरुवार को शिवाजी नगर थाने में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। अभी तक इस मामले में गिरफ्तारी नहीं हुई है।

मूल रूप से महेंद्रगढ़ निवासी 32 वर्षीय युवती ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसकी दोस्ती डेढ़ साल पहले महेंद्रगढ़ के ही एक युवक से हुई थी। आरोपी एयरफोर्स में कार्यरत है और गुरुग्राम में ही उसकी पोस्टिंग है। दोनों की दोस्ती प्यार में बदल गई और दोनों ने लिव इन में रहना शुरू कर दिया।

इस दौरान आरोपी ने युवती से शादी का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाए। उसके साथ कई बार दुष्कर्म भी किया। इस दौरान वह गर्भवती हो गई। गर्भ धारण करने के नौ महीने तक आरोपी युवती को शादी करने का झांसा देता रहा। आरोप है कि 10 मई को आरोपी युवती को छोड़कर फरार हो गया और अपना मोबाइल भी बंद कर दिया।

इस पर युवती ने गुरुवार शाम को शिवाजी नगर थाना पुलिस को शिकायत देकर मामला दर्ज करवाया और शुक्रवार को महिला ने बच्चे को जन्म दिया। जांच अधिकारी ने बताया कि मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच शुरू कर दी है। जांच में सामने आए तथ्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

फेसबुक फ्रेंड सहित 25 लोगों ने किया गैंगरेप, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

0

असल न्यूज़: फेसबुक फ्रेंड द्वारा दिल्ली की युवती को होडल बुलाकर उसका अपहरण कर गैंगरेप किए जाने के मामले में पलवल जिले की हसनपुर थाना पुलिस ने कुछ घंटों बाद ही फरार मुख्य आरोपी को धर दबोचा। गिरफ्तार अभियुक्त सागर को पुलिस ने शुक्रवार को अदालत में पेश किया, जहां से उसे दो दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है।

गैंगरेप की शिकार हुई दिल्ली की रहने वाली एक युवती ने पुलिस को दी गई शिकायत में बताया कि था उसके दोस्त रामगढ़ निवासी सागर की उससे फेसबुक पर दोस्ती हुई थी। इसके बाद सागर ने उससे शादी करने का झांसा देकर अपने परिजनों से मिलाने के बहाने से उसे होडल बुलाया था।

होडल पहुंचने पर सागर ने उसका अपहरण कर लिया तथा उसे अपने घर ले जाने की बजाय गांव के जंगल में बने ट्यूबवेल पर ले गया। आरोप है कि वहां सागर के अलावा उसका भाई समुंद्र व उसके अन्य दोस्त भी वहां पहुंच गए। जहां उन सभी ने मिलकर पूरी रात उसके साथ रातभर गैंगरेप किया। इसके बाद सुबह होने पर उसे गांव के निकट आकाश कबाड़ी के वहां ले गए, जहां पर आकाश और उसके दोस्तों ने भी उसके साथ गैंगरेप किया। जब वह चलने की स्थिति में नहीं रही तो सागर और उसके तीन दोस्त गाड़ी में उसे बदरपुर बॉर्डर पर छोड़कर फरार हो गए थे।

पीड़ित युवती की ओर से 12 मई को इसकी शिकायत हसनपुर थाना पुलिस को दी गई। हसनपुर पुलिस ने युवती की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए 12 मई की देर रात सागर, समुंद्र व आकाश सहित 22 अन्य युवकों के खिलाफ अपहरण और गैंगरेप सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

सयुक्त किसान मोर्चा का एलान:- 26 मई को मनाएंगे किसान, काला दिवस

0

असल न्यूज़: नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे 40 किसान संघों के प्रधान संगठन संयुक्त किसान मोर्चा ने शनिवार को कहा कि दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे प्रदर्शन के छह माह होने पर 26 मई को ‘काला दिवस’ के रूप में मनाया जाएगा। किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल ने केंद्र के कृषि कानूनों के विरोध में लोगों से 26 मई को अपने घरों, वाहनों, दुकानों पर काला झंडा लगाने की अपील की है।

राजेवाल ने कहा कि 26 मई को इस प्रदर्शन के छह महीने हो जाएंगे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सरकार बनाने के सात साल पूरे होने के अवसर पर यह हो रहा है। हम इसे काला दिवस के तौर पर मनाएंगे। केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ ‘दिल्ली चलो’ मार्च के तहत पानी की बौछारों और अवरोधकों का सामना करते हुए बड़ी संख्या में किसान 26 नवंबर को दिल्ली की सीमाओं पर आए थे। आगे के महीनों में राजधानी दिल्ली के करीब टीकरी, सिंघु और गाजीपुर बॉर्डर पर देशभर से हजारों किसान आ जुटे।

राजेवाल ने लोगों से 26 मई को ‘काला दिवस’ मनाते हुए किसानों का समर्थन करने की अपील की। उन्होंने कहा कि हम देश के लोगों से अपने मकानों, दुकानों, ट्रकों और अन्य वाहनों पर काले झंडे लगाने की अपील करते हैं। हम विरोध के तौर पर प्रधानमंत्री का पुतला भी जलाएंगे।

राजेवाल ने कहा कि सरकार तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को नहीं सुन रही है और उर्वरकों, डीजल और पेट्रोल की कीमतें बढ़ने से खेती करना संभव नहीं रह गया है।

बवाना थाना पुलिस ने अवैध हथियार सहित एक आरोपी को किया गिरफ्तार

0

अजय शर्मा: बाहरी दिल्ली के बवाना थाना पुलिस की पेट्रोलिंग टीम ने हथियार सहित एक आरोपी को गिरफ्तार किया है पेट्रोलिंग टीम नरेला बवाना रोड पर स्थित श्मशान घाट के पास पहुंची पेट्रोलिंग टीम ने उसी दौरान वहाँ एक युवक को देखा और उस पर कुछ संदेह होने पर उसे रुकने का इशारा किया लेकिन आरोपी पेट्रोलिंग टीम को देखकर मौके से फरार होने की फिराक में रहा पुलिस टीम ने आरोपी का पीछा कर उसे धर दबोचा आरोपी के पास से कंट्री मेड पिस्टल दो जिंदा कारतूस पुलिस ने बरामद हुए

पेट्रोलिंग टीम में मौजूद एसआई श्रीधर, एएसआई प्रवीण कुमार, हेड कांस्टेबल सुरेंदर, हेड कांस्टेबल देवेंद्र ने अपने आला अधिकारियों को सूचित किया और अपराध को वारदात देने से पहले ही आरोपी को धर दबोचा बवाना थाना पुलिस ने आरोपी के खिलाफ आर्म्स एक्ट वह धारा 188 आईपीसी 51 के तहत मामला दर्ज किया है।

जांच के दौरान पता चला कि आरोपी नाबालिग है फिलहाल बवाना थाना पुलिस यह पता लगाने में लगी है क्या आखिरकार यह किस बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए बवाना इलाके में आया था और उसके पास हथियार कहा से आए!आया था।

दिल्ली सरकार ने दिल्ली नगर निगम के लिए जारी किए 1,051 करोड़ रुपये.

0

असल न्यूज़। दिल्ली सरकार ने शनिवार को नगर निगमों के लिए 1,051 करोड़ रुपए की राशि जारी की। इससे नगर निगम के जिन लोगों को तनख्वाह नहीं मिल पा रही है। उन्हें तनख्वाह मिलेगी। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि ईस्ट MCD को 366 करोड़ रुपए, उत्तरी MCD को करीब 432 करोड़ रुपए और दक्षिण MCD को करीब 251 करोड़ रुपए दिए हैं। दिल्ली के मेयरों ने पिछले कई दिनों से सरकार से कर्मचारियों की सेलरी के लिए धनराशि जारी करने की मांग कर रहे थे। धनराशि जारी होने से कर्मचारियों को सेलरी मिलेगी। जिसकी डिमांड वे लंबे समय से कर रहे थे।

दिल्ली नगर निगम व दिल्ली सरकार में अक्सर खींचतान चल रही थी। और पिछले लंबे वक्त से नगर निगम के कई विभागों को सैलरी भी नहीं मिली थी। जिस वजह से वह काफी परेशान थे। साथ ही नगर निगम के कर्मचारी कोरोना संक्रमण के दौरान लोगों की मदद कर रहे हैं। लेकिन दिल्ली सरकार और निगम की खींचतान में उनकी सैलरी को दिक्कत आ रही थी। आज शनिवार को दिल्ली सरकार ने पहली तिमाही की राशि 1050 करोड रुपए नगर निगम को भेजे हैं। इसके लिए महापौर जयप्रकाश ने शुक्रिया तो किया। साथ ही कहा कि यह राशि उसका अनुदान है। जो अप्रैल के प्रथम सप्ताह में मिल जानी चाहिए थी।

लेकिन अप्रैल पूरा निकल गया और मई भी आधा जाने पर मिली है। लेकिन देर आए दुरुस्त आए। साथ ही जयप्रकाश मेयर ने कहा कि यह राशि नगर निगम को देना कोई एहसान नहीं है। यह नगर निगम का हक है। केंद्र सरकार दिल्ली सरकार को अनुदान देती है। और दिल्ली सरकार को उस निगम का हिस्सा उसमें से देना होता है। वह हिस्सा देने में दिल्ली सरकार ने देर कर दी है। और क्या कहा मेयर जयप्रकाश ने आप उन्हीं से सुनिए।

गुलाबी बाग थाना पुलिस ने ऑटो लिफ्टर को किया गिरफ्तार, एक स्कूटी बरामद

0

असल न्यूज़। उत्तरी जिला के डीसीपी ने मीडिया से जानकारी साझा करते हुए बताया कि 12 मई को प्रताप नगर के निवासी प्रितपाल ने शिकायत दी थी कि दोपहर के 1:00 बजे के आसपास उसकी स्कूटी चोरी हो गई। स्कूटी गुलाबी बाग थाना एरिया से चोरी हुई है। पुलिस ने तुरंत FIR दर्ज कर जांच शुरू की गई।

14 मई को दिल्ली पुलिस की टीम पेट्रोलिंग कर रही थी। यह पेट्रोलिंग टेक मार्केट थाना रोड गुलाबी बाग में की जा रही थी। शाम के 7:50 के आसपास एक शख्स स्कूटी पर आता हुआ दिखाई दिया और चेकिंग के लिए जब उसे रुकने का इशारा किया गया। आरोपी ने यूट्रन लेकर भागने लगा। पुलिस टीम ने तुरंत पीछा करके उसे पकड़ लिया जब उसकी स्कूटी की जांच की तो वह चोरी की है।

गिरफ्तार आरोपी की पहचान साहिल (21) पुत्र बालकिशन घंटाघर दिल्ली के रूप में हुई है। पूछताछ में उसने बताया कि वह पहले भी स्नैचिंग चोरी और आर्म्स एक्ट जैसे चार मामलों में शामिल रहा था। जो अलग-अलग थानों में दर्ज है। फिलहाल पुलिस ने आज इसे न्यायालय में पेश करके न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

अंशुल दीक्षित उर्फ अंशु ने चित्रकूट जेल में मचाया आतंक

0

उत्तर प्रदेश। सीतापुर के शार्प शूटर अंशुल दीक्षित अपराध की दुनिया में काफी चर्चित नाम है। शुक्रवार को चित्रकूट की जिला कारागार में अंशुल ने दो शातिर बदमाशों की गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद पुलिस ने एनकाउंटर के दौरान अंशुल दीक्षित को भी जेल में ही मार गिराया। अंशुल दीक्षित ने दो दशक पहले अपराध की दुनिया मे कदम रखा था और देखते ही देखते वह खूंखार बदमाश बन गया था।

सीतापुर के मानपुर थाना क्षेत्र के ग्राम ओलरा निवासी अंशुल के पिता जगदीश दीक्षित पेशे से एक व्यापारी थे। वह प्रॉविजन स्टोर चलाते थे। जगदीश के दो बेटे अंशुल दीक्षित,अन्नू दीक्षित और दो बेटियां पूनम व शिखा भी परिवार में थी। अंशुल की शुरुआती पढ़ाई प्रेम नगर स्थित स्कूल में हुई थी, हालांकि हाईस्कूल में फेल में हो गया था।

बतात हैं कि अंशुल दीक्षित 12 साल की उम्र में ही सुतली बम बनाकर दहशत फैलाने का कोशिश कर चुका था लेकिन पुलिस ने बचपन में हुई हरकत को नजर अंदाज कर छोड़ दिया था। साल 2003 में तत्कालीन सपा एमएलसी भरत त्रिपाठी के बेटे परीक्षित त्रिपाठी ने अंशुल की बहन से छेड़छाड़ का आरोप लगा था।परिवार पुलिस से शिकायत करने पहुंचा लेकिन एमएलसी के रुतबे के आगे अंशुल और उसके परिवार की एक नही चली। पुलिस ने उन्हें थाने से बैरंग ही वापस कर दिया।

सपा एमएलसी के बेटे की कार में झोंकी फायर
इसी विवाद के बाद अंशुल सपा एमएलसी भरत त्रिपाठी और उनके बेटों से रंजिश मनाने लगा। पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सामने ही उसने एमएलसी के बेटे की कार पर फायर झोंक दिया था लेकिन वह बच गए थे। अपराध की दुनिया में अंशुल का यह पहला कदम था और इसी घटना के बाद पुलिस की सख्ती के चलते अंशुल के घर की कुर्की हुई। अंशुल सीतापुर से निकलकर लखनऊ जा पहुंचा जहां उसने अपराध की बड़ी दुनिया में कदम रखा।

2019 में चित्रकूट जेल में हुआ ट्रांसफर
पुलिस रेकॉर्ड के मुताबिक, अंशुल ने वर्ष 2009 में सीतापुर के सिविल लाइन निवासी एक व्यापारी से रंगदारी मांगी। उसके खिलाफ केस दर्ज हुआ लेकिन वह पुलिस की पकड़ से भाग निकला था। 2019 में अंशु सुल्तानपुर जेल से चित्रकूट ट्रांसफर हुआ था।

मुखर्जी नगर में निरंकारी मिशन ने जरूरतमंदों में खाना वितरण किया, पुलिस का भी रहा सहयोग

0

असल न्यूज़। राजधानी दिल्ली के एसएचओ मुखर्जी नगर थाने के नजदीक इंदिरा विकास कॉलोनी में संत निरंकारी मिशन दिल्ली पुलिस के जवानों ने जरूरतमंद लोगों को निशुल्क खाना वितरित किया इस तरीके से लोगों की सहायता भी हो सकेगी क्योंकि लॉकडाउन के दौरान लोगों के कामकाज पूरी तरीके से बंद है। लोगों को आर्थिक दिक्कतें भी आ रही हैं। ऐसे में किसी को भी भूखे ना रहना पड़े मंशा से लोगों को निशुल्क भोजन वितरण का कार्यक्रम किया जा रहा है।

एसएचओ मुखर्जी नगर थाने के पास इंदिरा विकास कॉलोनी में गरीबों को निरंकारी मिशन द्वारा बाटा गया खाना कोरोना महामारी दिल्ली सहित पूरे भारत में अपना विकराल रूप दिखा रही है। और दिन पर दिन लोगों को अपनी चपेट में ले रही है। जिस कारण दिल्ली में लॉकडाउन लगा हुआ है। लॉकडाउन के कारण लोगों का काम धंधा बिल्कुल बंद पड़ा है। जिस कारण रोज कमाने और रोज खाने वाले लोगों को बहुत अधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

इसको देखते हुए निरंकारी मिशन द्वारा रोज मुखर्जी नगर थाने के पास इंदिरा विकास कॉलोनी में सुबह दोपहर और शाम का खाना गरीबों को बांटा जा रहा है। जिसमें करीब 600 लोगो के लिए खाना आता है। और जरूरतमंद लोगों को कोरोना के नियमों का पालन करा कर खाना बाटा जाता है। साथ ही साथ रोज खाना अलग-अलग तरीके का आता है। सुबह दाल रोटी और शाम को सब्जी परांठे।

2021: CBSE, ICSE 12वीं बोर्ड परीक्षा होगी या नहीं, सुप्रीम कोर्ट में दायर हुई याचिका

0

असल न्यूज़। सुप्रीम कोर्ट में CBSE बोर्ड 12th परीक्षा 2021 और ICSE बोर्ड 12th परीक्षा 2021 की परीक्षाओं को रद्द करने के लिए याचिका दायर की गई है. इस याचिका में केंद्र सरकार को CBSE, ICSE 12वीं बोर्ड परीक्षा को रद्द करने के निर्देश देने को कहा गया है. इससे पहले CBSE ने 14 अप्रैल को 10वीं कक्षा की परीक्षा रद्द कर दी थी और 12वीं कक्षा के लिए परीक्षा स्थगित कर दी गई थी. CISCE ने भी 16 अप्रैल और 19 अप्रैल को 10वीं कक्षा की परीक्षा रद्द कर दी थी और 12वीं कक्षा की परीक्षा को अनिश्चित अवधि के लिए स्थगित कर दिया था 12वीं की परीक्षा रद्द होगी या नहीं CBSE ने कर दिया साफ; यह है ताजा अपडेट।

याचिका में अदालत से 14, 16 और 19 अप्रैल, 2021 की CBSE और CISCE अधिसूचनाओं को रद्द करने के लिए कहा गया है. इसमें केवल 12वीं कक्षा की परीक्षा को स्थगित करने से संबंधित धाराओं के संबंध में जारी की गई थीं. अधिवक्ता ममता शर्मा द्वारा दायर याचिका में अदालत से एक विशिष्ट समय सीमा के भीतर 12वीं कक्षा का रिजल्ट घोषित करने के लिए एक वस्तुनिष्ठ कार्यप्रणाली तैयार करने को कहा गया है. याचिका में कहा गया है कि 12वीं कक्षा (CBSE Board 12th Exam 2021) के छात्रों के साथ “सौतेला, मनमानी, अमानवीय निर्देश” एक अनिश्चित अवधि के लिए अपनी अंतिम परीक्षा (CBSE Board 12th Exam 2021) स्थगित करने के लिए जारी किए गए हैं. 10वीं के बाद अब कैंसिल हो सकती हैं 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं हो रही समीक्षा.

याचिका में कहा गया. अभूतपूर्व स्वास्थ्य आपातकाल और देश में COVID​​​​-19 मामलों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर परीक्षा (CBSE Board 12th Exam 2021) का संचालन, या तो ऑफ़लाइन या ऑनलाइन या आगामी हफ्तों में संभव नहीं है और परीक्षा (CBSE Board 12th Exam 2021) में देरी से छात्रों को अपूरणीय क्षति होगी क्योंकि विदेशी विश्वविद्यालयों में उच्च शिक्षा पाठ्यक्रमों में समय पर प्रवेश ले पाना संभव नहीं हो पाएगा.” इसमें कहा गया है कि रिजल्ट की घोषणा में देरी अंततः छात्रों के एक सेमेस्टर में बाधा उत्पन्न करेगी क्योंकि 12वीं कक्षा के रिजल्ट घोषित होने तक प्रवेश की पुष्टि नहीं की जा सकती है. ये क्या बोल गए केंद्रीय मंत्री कोर्ट कह रही सबका टीकाकरण करो, अब वैक्सीन नहीं तो क्या हम फांसी लगा लें.

ममता बनर्जी के भाई असीम बनर्जी का कोरोना से निधन

0

असल न्यूज़। कोलकाता पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के छोटे भाई असीम बनर्जी का निधन हो गया। वह पिछले एक महीने से कोरोना से संक्रमित थे। असीम कोलकाता के मेडिका सुपरस्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती थे। परिवारिक सूत्रों के अनुसार, असीम का अंतिम संस्कार कोरोना प्रोटोकॉल के तहत किया जाएगा।

ममता बनर्जी के छोटे भाई असीम बनर्जी का निधन हो गया। वह पिछले एक महीने से कोरोना से संक्रमित थे। असीम कोलकाता के मेडिका सुपरस्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती थे। परिवारिक सूत्रों के अनुसार,असीम का अंतिम संस्कार कोरोना प्रोटोकॉल के तहत किया जाएगा।

मेडिका अस्पताल के चेयरमेन डॉ. आलोक रॉय ने बताया,’सीएम ममता बनर्जी के छोटे भाई असीम बनर्जी का आज सुबह अस्पताल में निधन हो गया। वह कोरोना संक्रमित पाए गए थे और उनका इलाज चल रहा था।

21,961FansLike
2,765FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Recent Posts