Home Blog Page 342

दिल्ली-NCR में फिर से बारिश, सर्द हुआ मौसम

0

राजधानी दिल्ली का मौसम फिर वह सर्द दो दिन पहले ही मौसम विभाग की तरफ से सूचना दे दी गई थी कि दिल्ली में बारिश हो सकती है जिसके बाद आज सुबह करीब 7:00 बजे से ही लगातार दिल्ली के कुछ इलाकों में बारिश हो रही है जिसकी वजह से ठंड का तापमान फिर से बढ़ गया है बारिश के साथ-साथ ठंडी हवाएं भी चल रही है।

आपको बता दें कि कुछ दिनों से लगातार पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी हो रही है जिसके चलते अब दिल्ली में फिर से ठंड का तापमान बढ़ेगा। मौसम विभाग की माने तो दो दिन तक लगातार बारिश हो सकती है। ठंडी हवाएं भी चल सकती है।

नेहरू प्लेस के मोक्ष धाम में श्रमदान की बयार

0

नई दिल्ली। मानव जीवन की संवेदनाओं को संजोए रखना जब अच्छा लगता है। जब दलगत राजनीति से अलग हटकर राजनेता भी एक मंच पर आकर श्रमदान करें ऐसा ही एक नजारा दक्षिणी दिल्ली के नेहरू प्लेस स्थित श्मशान घाट पर देखने को मिला जहां सांसद रमेश बिधूड़ी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता वीरेंद्र कसाना ख़विंद्रर सिंह कैप्टन सहित अन्य नेतागण मोक्षधाम में हो रही गंदगी को स्वयं ही फावड़ा तसला व झाड़ू लेकर साफ करने में जुट गए। मोक्षधाम में अपने पारिवारिक व्यक्ति की अंतिम क्रिया करने आए लोगों ने देखा कि सभी लोग साफ सफाई अभियान में लगे हैं। वहां मौजूद कैप्टन ख़विंद्रर सिंह ने कहा कि राजनीति अपनी जगह है लेकिन मोक्ष के इस अंतिम धाम की साफ सफाई करने का आनंद ही कुछ और है उन्होंने कहा कि आने वाले समय में यहां पौधारोपण किया जाएगा इस अवसर पर गोपाल सिंह राजपाल सिंघला सुरेंद्र गोयल आरएस बंसल नितिन सिंघल आदि ने भी श्रमदान में हिस्सा लिया।

ख़विंद्रर सिंह कैप्टन
मो:9810880786

ग्रेटर नोएडा में मुठभेड़ के बाद कुख्यात अपराधी गिरफ्तार

0

ग्रेटर नोएडा। दादरी पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ के दौरान एक अपराधी को गिरफ्तार किया गया आपको बता दें कि दादरी पुलिस को सूचना मिली थी के कुख्यात अपराधी दादरी रेलवे रोड अग्रसेन इंटर कॉलेज ग्राउंड के पास आने वाला है जिसके बाद एडिशनल डीसीपी एसीपी वेस्ट में भारी पुलिस बल के साथ रेप लगाया गया। मुखबिर खास की बताई गई जगह पर आरोपी पहुंचा और उस दौरान कई राउंड फायरिंग भी हुई। आरोपी को लगी पैर में गोली हुआ गिरफ्तार।

आपको बता दें कि आरोपी सोमीन के पैर में गोली लगी जिसके बाद दादरी पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है। आरोपी सोमीन पर तीन दर्जन से ज्यादा मामले दर्ज है। जिनमें हत्या लूटपाट रंगदारी जैसे अन्य कई मामले शामिल है। गिरफ्तार आरोपी के पास से दादरी पुलिस ने एक कंट्री मेड पिस्टल एक बाइक भी बरामद की है।

फिलहाल दादरी पुलिस आरोपी सोमीन से लगातार पूछताछ कर रही है। इलाके में उसके और कितने साथी हैं उनके लिए भी तलाश जारी किए हुए हैं।

तीन साल का विश्वास तोड़ 85 लाख लेकर हुआ था फरार, हुआ गिरफ्तार

0

साउथ दिल्ली के डिफेंस कालोनी थाना क्षेत्र में रहने वाली एक कारोबारी महिला का ड्राइवर पीड़ित महिला का 85 लाख रुपये लेकर फरार हो गया हैं। महिला आरोपित ड्राइवर को 85 लाख रुपये बैंक में जमा कराने के लिए दिया था लेकिन रास्ते में उसका नियत डोल गया और कार को वसंत विहार इलाके में छोड़ पैसे लेकर फरार हो गया। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस FIR दर्ज कर आरोपित ड्राइवर को चुराये पैसे के साथ गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की पहचान 30 वर्षीय राघव के रूप में हुई है जो कि न्यू फ्रेंड कॉलोनी के खिजराबाद में रहता है। 

गरीबी किसे सही लगती है, रातों रात अमीर बन अपनी किस्मत को ठीक करने की कोशिश में जो भी ईमानदारी से 2 रोटी अपने परिवार के लिए कमाकर खिला रहा था आज वो भी बंद हो गया। पुलिस गिरफ्त में खड़ा ये 30 वर्षीय आरोपित ड्राइवर राघब जो हजारों किलोमीटर दूर बिहार के मधुबनी से अपने परिवार के साथ दिल्ली आया और एक महिला कारोबारी के यहाँ ड्राइवर की नौकरी करने लगा। लगातार 3 साल से ईमानदारी के साथ नौकरी कर रहा था लगातार विश्वास के साथ बैंक लोगो को समान पहुँचा रकम लाना जरूरत पड़े तो बैंक में जमा कराना इत्यादि। लेकिन 28 जनवरी को मालकिन ने पहले कि तरह ही उसे पैसे दिए लेकिन इस बार हमेशा से कुछ ज्यादा पैसे को देख आरोपित ड्राइवर की नियत बदल गयी और उसने कार को वसंत विहार इलाके में छोड़ पैसे लेकर फरार हो गया। 

कुछ समय बाद पीड़ित कारोबारी महिला ने आरोपी ड्राइवर के जाने के कुछ देर बात जब कॉल किया तो नम्बर बंद आने के बाद संदेह हुआ उन्होंने कार को ट्रैक किया तो कार वसंत विहार इलाके में सड़क किनारे खड़ी मिली। पीड़िता ने तुरंत इस मामले की शिकायत स्थानीय थाना डिफेंस कलोनी में दर्ज करवा दी।

दिल्ली: डीसीपी दीपक यादव ने सिख समुदाय के लोगों के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की

0

ईस्ट दिल्ली के डीसीपी दीपक यादव ने सिख समुदाय के लोगों के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग मीटिंग की जहां पर सभी थानों के एसएचओ ने सिख समुदाय के गुरुद्वारे के मेंबरों को बुलाया उन्होंने सबको यह समझाया की अगर कोई भी व्हाट्सएप पर आपको वीडियो क्लिप या और कुछ भी फेक न्यूज़ आती है तो इस आगे फॉरवर्ड बिल्कुल ना करें या तो इसे थाने के एसएचओ या फिर डीसीपी के ट्विटर हैंडल पर या एसएचओ को उसने उसको फॉरवर्ड किया जाए हम उसको वेरीफाई करेंगे उसके बाद अगर कुछ ऐसा होगा तो उन शरारती लोगों को ट्रेस करके अरेस्ट किया जाएगा ऐसा ना हो कि जांच के बिना आप उसे आगे फॉरवर्ड करें इससे आप भी मुश्किल में आ सकते हैं।

और सभी सिख समुदाय के लोगों ने डीसीपी साहब को अपनी अपनी प्रॉब्लम बताई कि कोई भी गलियों के अंदर शरारती तत्व किसी भी बात की अफवाह ना फैलाएं डीसीपी दीपक यादव ने कहा है कि मैं अपने इलाके में बिल्कुल भी ऐसी चीज बर्दाश्त नहीं करूंगा जिससे कि समाज को कोई नुकसान हो दिल्ली पुलिस हमेशा आपके साथ खड़ी है।

पूर्वी दिल्ली नगर निगम मुख्यालय पर वेतन नहीं मिलने से सफाई कर्मचारियों का विशाल धरना प्रदर्शन

0

पूर्वी दिल्ली नगर निगम मुख्यालय पर आज सफाई कर्मचारियों ओर निगम के शिक्षकों का विशाल धरना प्रदर्शन हो रहा है सभी सफाई कर्मचारी अपने तनख्वाह औऱ खुद को परमानेंट को लेकर यहां पर अड़े बैठे हैं उनका साफ तौर पर कहना है कि दोनों सरकारों के बीच में दिल्ली की सरकार और केंद्र सरकार में हम फंस रहे हैं हम लोगों का घर नहीं चल रहे है यहां पर आज हजारों की संख्या में सभी सफाई कर्मचारी इकट्ठे हुए और अपना प्रदर्शन कर रहे हैं।

वहीं सफाई कर्मचारी का कहना है कि हमें 20 से 25 साल काम करते हो गए हैं हमें अभी तक पक्का नहीं किया गया हमें ना सही लेकिन हमारे आगे बच्चे को तो पक्का किया जाए और चार से पांच महीने तक हम लोगों को सैलरी नहीं मिलती वहीं शिक्षकों का कहना है कि हमें 10 साल तक काम करवाया उसके बाद उन्होंने अब हमें घर पर बैठा दिया है हमने कई जगह अपनी दरखास दी है लेकिन हमारी कहीं सुनवाई नहीं हो रही अब हम क्या करें हमारे बच्चे जहां स्कूलों में पढ़ते हैं स्कूल से नोटिस आया हुआ है क्योंकि हमारे पास पैसे नहीं है हमने बच्चों की फीस नहीं भरी अब देखना यह होगा कि निगम के शिक्षक और सफाई कर्मचारी दोनों का क्या होता है।

वही दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी ने कहा कि दिल्ली को साफ सुथरा रखने की जो बातें करते हैं वह दिल्ली में कूड़ा कूड़ा कर रहे हैं बीजेपी की सरकार ने कर्मचारियों का वेतन नहीं दिया इसलिए कर्मचारी गुस्से पर है इसका गुस्सा दिल्लीवासियों को झेलना पड़ रहा है। दूसरी तरफ बीजेपी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि कर्मचारियों को वेतन भी देंगे लेकिन दिल्ली सरकार भेदभाव कर रही है निगम के कर्मियों को हड़ताल के लिए उकसा रहे हैं मैं जनता से यह सवाल पूछना चाहता हूं कि अरविंद केजरीवाल के आने पर ही निगम की हड़ताल क्यों हुई है।

वहीं विपक्ष नेता मनोज त्यागी आम आदमी पार्टी से उन्होंने कहा कि कर्मचारियों की हड़ताल की जिम्मेदारी बीजेपी की है क्योंकि वह निगम में शासन में है कर्मचारियों को वेतन देने में फेल है। मैनेजमेंट कर्मचारियों को पक्का करने में फेल है। हर तरह से यह सरकार फेल है अगर इनसे निगम नहीं चलता तो यह हमें दे दें हम निगम चला कर दिखाएंगे

एम्स में शुरु हुआ एक दिवसीय भव्य ब्लड डोनेशन कैम्प, सेना के जवान का बड़ा योगदान

0

देश के सबसे बड़े और राजधानी दिल्ली में बने सबसे बड़े अस्पताल एम्स में आज एक दिवसीय भव्य मेगा ब्लड डोनेशन कैंप का आयोजन किया गया। यह कैंप आज सुबह 8:00 बजे से शुरू किया गया है और देर शाम तक 8 बजे तक चलेगा। सुरुआती दौड़ में ही देश के सैकड़ों जवान इस ब्लड डोनेशन कैम्प में बढ़चढ़ हिस्सा ले रहे हैं। आज सुबह से ही लगातार CRPF, IDBP, SSB, NDRF और पैरामिलिट्री फ़ोर्स के सैकड़ों से बढ़कर हजारों की संख्यां में जवान अपना ब्लड डोनेट करने पहुँच रहे हैं।

 

जवान अपना ब्लड डोनेट करना सुरु कर दिए हैं। इस मेगा ब्लड डोनेशन कैम्प में अपना ब्लड डोनेट करने वालों को एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया सभी जवान और आमलोगों को सर्टिफिकेट दिए। एम्स के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि रक्तदान ही सबसे बड़ा महादान है और हमें जरूरतमंद लोगों के लिए रक्तदान अवश्य करना चाहिए। मैं आम जनता से भी अपील करता हूं कि वह लोग एम्स में ज्यादा से ज्यादा संख्या में आकर ब्लड को डोनेट करें। क्योंकि अगर हमारे पास ज्यादा ब्लड रहेगा तो हम ज्यादा से ज्यादा लोगों की जान बचा सकते हैं। 

इस भव्य मेगा ब्लड डोनेशन कैम्प में पहुँचे सेना के अधिकारियों ने बताया कि आज हमारे फोर्स के जवान करीब 3 हजार की संख्या में ब्लड डोनेट कर रहे हैं। हम आम जनता से भी यही अपील करते हैं कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में आकर इस मेगा ब्लड डोनेशन कैंप में हिस्सा लें। जिन लोगों को आखिरी समय में ब्लड की जरूरत होती है अगर हमारे हॉस्पिटल्स में आखरी समय में ब्लड रहता है और वह किसी दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को मिल जाता है तो वह उसके लिए वरदान साबित होता है। ब्लड रहने पर हमेशा जरूरतमंदों की जान बचाई जा सकती है इसलिए हमें आगे आकर ब्लड को डोनेट करना चाहिए और समय-समय पर रक्तदान करना चाहिए। लोगो को जागरूक करते हुए बताया कि ब्लड डोनेट करने में हमें कोई हानि नहीं होने वाली है बल्कि हम कई जानों को बचा सकते हैं। एक शख्स के ब्लड डोनेट करने पर 3 लोगो की जान बचा सकते हैं हम…

संतो और मौलाना धर्मगुरुओं के बीच दोस्ताना क्रिकेट मैच में संतो ने जीत हासिल की…

0

संत और मौलानाओं ने यमुना स्वच्छता पर्यावरण के लिए थामा बल्ला।

छठी यमुना ट्राफी के आयोजक राजीव निशाना की पहल पर सीडब्ल्यूजी अक्षरधाम में आपसी भाईचारे और सौहार्द्र को कायम रखने हेतु मैच खेला गया।डीएलएसए के सैक्रेटरी गौतम मनन ने टास उछाला।संत एकादश के कप्तान आचार्य विक्रमादित्य व मौलाना एकादश के कप्तान सैयद अफसर अली निजामी ने टास जीतकर पहले मौलाना एकादश ने पहले बल्लेबाजी का निर्णय किया। 12 ओवर में 7 विकेट पर 83 रन बनाए। जवाब में संत एकादश ने मात्र 3 विकेट खोकर अंतिम ओवर में 84 रन बनाए।

दोनों टीमों में आचार्य पवन सिन्हा, आचार्य अजय गौतम, आचार्य शैलेश तिवारी,पं.शुभेष शर्मन,महंत विकास शर्मा,महंत वरुण शर्मा, मौलाना मौहम्मद साजिद रशीदी,मुफ्ती एजाज अरशद,फादर आर.डी.दास,सैयद तारिक अहमद बुखारी, मौलाना अब्दुल रहमान, मौलाना असद आदि ने मैच समापन कहा,कि ना तुम जीते,ना हम हारे… लेकिन आज इस मैच के आयोजन पर गंगा जमुनी तहजीब ने दोनो ओर के दिलों को मिलवाया।

दोनों ही टीमों के सभी खिलाड़ियों ने संकल्प लिया, कि यमुना नदी की सफाई के लिए हम सभी मिलकर साझा प्रयास करेंगे। जिससे की पर्यावरण की दृष्टि से दिल्ली के हर नागरिक को स्वस्थ रखा जा सके। मैच का आयोजन आईडीएचसी सोसायटी तथा इम्वा द्वारा डीएसएसजी एवं दा हंस फाउंडेशन के सहयोग से किया गया।

स्वामी ओम का निधन, पैरालिसिस के चलते खराब हो गया था आधा शरीर

0

बिग बॉस 10 में नजर आने के बाद चर्चा में आए स्वामी ओम का निधन हो गया है। जानकारी के मुताबिक वो पिछले कुछ दिनों से बीमार थे। मालूम हो कि कुछ समय पहले वो कोरोना की चपेट में भी आए थे, हालांकि वो उससे ठीक हो गए थे। मालूम हो कि स्वामी ओम 63 साल के थे।जानकारी के मुताबिक कोरोना से ठीक होने के बाद स्वामी ओम को पैरालिसिस हो गया था और इसके चलते उनकी हालत लगातार खराब होती जा रही थी। वो चलने- फिरने में भी असमर्थ थे। आज दिल्ली के निगम बोध शमशान घाट में स्वामी ओम का अंतिम संस्कार किया जाएगा।

कई विवादों से जुड़ा था नाम

बिग बॉस के घर में रहते हुए भी स्वामी ओम अक्सर चर्चा में रहते थे। वो उस समय सुर्खियों में आए जब घर में उन्होंने टॉयलेट की जगह मग में पेशाब किया और इसके बाद बिना हाथ धोए घर व किचन की चीजों को छुआ। तो वहीं देश के उत्तर भारत में आए भूकंप को भी उन्होंने खुद से जोड़ दिया था। उनका कहना था कि बिग बॉस के घर में उनके साथ गलत व्यवहार किया गया जिसके चलते भूकंप आया है। उन्होंने कहा था- मेरे शिव भक्त होने की वजह से सोमवार के दिन धरती हिली है। भगवान शिव नाराज हैं क्योंकि उनके भक्त के साथ गलत व्यवहार हुआ।

ट्रेक्टर परेड के दौरान हिंसा पर जांच में दखल को सुप्रीम कोर्ट का इनकार

0

सुप्रीम कोर्ट ने गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा की जांच की मांग करने वाली याचिकाओं को खारिज कर दिया है। कोर्ट याचिकाकर्ताओं को सरकार के समक्ष प्रतिनिधित्व दर्ज कराने की अनुमति दी है। आपको बता दें कि शीर्ष अदालय में दायर एक याचिका में घटना की जांच के लिए शीर्ष अदालत के रिटायर जज की अध्यक्षता में आयोग बनाने का भी अनुरोध किया गया था।

हालांकि, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस की अगुवाई वाली पीठ ने कहा कि हमें यकीन है कि सरकार इसकी जांच कर उचित कार्रवाई कर रही है। पीठ ने आगे कहा कि हमने प्रधानमंत्री के बयान को अखबारों में पढ़ा, जिसमें उन्होंने कहा कि कानून अपना काम करेगा। इसका मतलब है कि सरकार पूछताछ कर रही है।

केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग के पक्ष में 26 जनवरी को हजारों की संख्या में किसानों ने ट्रैक्टर परेड निकाली थी, लेकिन कुछ ही देर में दिल्ली की सड़कों पर अराजकता फैल गई। कई जगह प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के अवरोधकों को तोड़ दिया और पुलिस के साथ भी उनकी झड़प हुई। प्रदर्शन में शामिल लोगों ने वाहनों में तोड़ फोड़ की और लाल किले पर एक धार्मिक ध्वज लगा दिया था।

आज सुप्रीम कोर्ट में प्रधान न्यायाधीश एस ए बोबडे और न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना और न्यायमूर्ति वी रामसुब्रमण्यन की पीठ इन सभी याचिकाओं पर सुनवाई की।

अधिवक्ता विशाल तिवारी द्वारा दाखिल याचिका में शीर्ष अदालत के सेवानिवृत्त न्यायाधीश की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय जांच आयोग गठित करने का अनुरोध किया गया था, जिसे भी कोर्ट ने खारिज कर दिया है। तीन सदस्यीय इस आयोग में उच्च न्यायालय के दो सेवानिवृत्त न्यायाधीशों को शामिल करने का आग्रह किया गया था। याचिका में 26 जनवरी को राष्ट्रीय ध्वज के अपमान के लिए जिम्मेदार लोगों अथवा संगठनों के खिलाफ संबंधित धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज करने के वास्ते संबंधित अधिकारियों को निर्देश देने का भी अनुरोध किया गया था।

22,950FansLike
3,695FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Recent Posts