Home Blog Page 3

ममता का कत्ल: अपने ही तीन बच्चों को मार डाला, दो को टैंक में फेंक खुद चार माह की मासूम को कमर में बांध कूदी

0

हरियाणा के नूंह में तीन दिन पहले खेड़ला गांव में अपने ही बच्चों को घर में बने पानी के टैंक में डालकर मारने वाली कलयुगी मां पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पहले तो परिजन व रिश्तेदारों ने इस मामले को दूसरा रूप देते हुए हत्यारी मां को बचाने की कोशिश की। लेकिन अब पुलिस ने ही उक्त महिला के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। हालांकि महिला अभी उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती है। बता दें कि खेड़ला गांव का आरिफ जो ट्रक मिस्त्री है। तीन दिन पहले वो किसी काम से दिल्ली गया हुआ था। उसकी पत्नी शकुनत ने अपने ही तीन तीन बच्चे 10 साल की शबाना, आठ वर्षीय साद और चार माह के इकरार को घर में बने पानी के टैंक में डालकर मार दिया और बाद में खुद भी उसमें कूद गई।

बताया जा रहा है कि वो चार माह की बच्ची को अपनी कमर को बांधकर कूदी थी। बच्चों की तो मौके पर ही मौत हो गई। लेकिन जब शकुनत खुद पानी में तड़फने लगी तो उसने शोर मचाना शुरू किया। जिसे सुनकर पड़ोसियों ने उसे बचा लिया लेकिन तब तक बच्चों की मौत हो चुकी थी।

पड़ोसियों ने उसे उपचार के लिए मेडिकल कॉलेज भेज दिया। इस हत्याकांड से पूरा गांव थर्रा उठा। लेकिन हत्यारी शकुनत को बचाने के लिए परिजनों व रिश्तेदारों ने तरह-तरह की अटकल बाजी लगाई। लेकिन पुलिस ने इस मामले में शकुनत को दोषी मानते हुए उसके खिलाफ बुधवार को हत्या सहित कई धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

आखिर क्यों उठा यह कदम?
ग्रामीण बताते हैं कि शकुनत के चार बच्चे थे। कमोबेश सभी मंदबुद्धि थे। हाल ही में हुई चार माह की बेटी को वो किसी डाक्टर को दिखाकर लाए थे तो डाक्टर ने उसे भी अन्य बच्चों की तरह मंदबुद्धि बता दिया। पहले से मानसिक रूप से परेशान शकुनत अपना आपा खो बैठी और उसने बच्चों सहित मरने के लिए घर में बने पानी के टैंक में पहले दो बच्चों को डाला और फिर चार माह की मासूम को अपनी कमर के साथ बांधकर खुद भी टैंक में कूद गई। इस हादसे में तीनों बच्चों की तो मौत हो गई, लेकिन वो खुद बच गई जो अब उपचार के लिए नलहड़ मेडिकल कॉलेज में दाखिल है।

जिस समय यह हादसा हुआ उस समय पुलिस को गुमराह किया गया कि यह हादसा हुआ है हत्या नहीं। पुलिस ने पहले दिन तो इस मामले में मामला दर्ज नहीं किया। परिजन शकुनत को बचाना चाहते थे, क्योंकि शकुनत व उसकी देवरानी सगी बहन है तो सास उसकी बुआ लगती है। इसलिए शकुनत के मायके वाले चाहते थे कि मामला यूं ही रफा-दफा हो जाए, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

शकुनत के खिलाफ हत्या सहित कई धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। जल्द ही उसे गिरफ्तार भी कर लिया जाएगा। अभी वो अस्पताल में भर्ती है। मामले की और भी कई विषयों को ध्यान में रखकर जांच की जाएगी।

G20 समिट में भी दिखेगा ममता-मोदी का टकराव, ‘दीदी’ ने अभी से दिखा दिए तेवर

0

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी G20 समिट की तैयारियों को लेकर बुलाई गई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक में शामिल होने के लिए 5 दिसंबर को नई दिल्ली जाएंगी। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा है कि वह इस मीटिंग में पश्चिम बंगाल की सीएम के रूप में नहीं, बल्कि तृणमूल कांग्रेस (TMC) की राष्ट्रीय अध्यक्ष में रूप में शामिल होंगी। इस मीटिंग में देश के राज्यों के मुख्यमंत्रियों को आमंत्रित किया गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, सीएम ममता बनर्जी ने राज्य विधानसभा में मीडिया से बात करते हुए कहा कि, ‘मैं प्रधानमंत्री की बैठक में हिस्सा लेने के लिए 5 दिसंबर को नई दिल्ली जा रही हूं।’ उन्होंने बताया है कि वह दिल्ली से अजमेर शरीफ दरगाह जाएंगी, इसके बाद पुष्कर जाएंगी। भारत अगले साल सितंबर में G20 समिट की मेजबानी करेगा। ममता बनर्जी मुख्यमंत्रियों की मीटिंग से अलग पीएम मोदी से मुलाकात कर सकती हैं। वह उनके समाने प्रदेश की बकाया राशि और बाढ़, कटान जैसे मुद्दे उठा सकती हैं। उल्लेखनीय है कि ममता कई दफा यह कह चुकी हैं कि केंद्र सरकार फंड जारी करने में देर कर रही है, जिसके कारण विकास योजनाएं शुरू करने में दिक्कत हो रही है। वह दावा कर चुकी हैं कि 31 जुलाई 2022 तक ही केंद्र पर बंगाल सरकार के करोड़ों रुपये बाकी हैं।

बताया जा रहा है कि ममता, इस मीटिंग में फरक्का बैराज और उसके आसपास के इलाकों में गंगा नदी के कटान का मुद्दा उठा सकती हैं। वह इसको लेकर पीएम नरेंद्र मोदी को भी चिट्ठी लिख चुकी हैं। उन्होंने मांग की थी कि संबंधित मंत्रालय विस्तृत अध्ययन कर एकीकृत योजना बनाई जाए। सीएम ममता ने नदिया, मालदा, मुर्शिदाबाद में गंगा नदी के किनारे कटान को लेकर चिंता प्रकट की थी।

फंदे पर लटका मिला AAP नेता का शव, BJP बोली- टिकटों की बिक्री लोगों को मौत के कगार तक पहुंचाएगी तो नहीं रहेंगे चुप

0

आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता संदीप भारद्वाज का शव उनके राजौरी गार्डन स्थित घर पर फंदे पर लटका मिला। गुरुवार शाम तकरीबन 5 बजे पुलिस को इसकी सूचना मिली। आपको बता दें संदीप भारद्वाज AAP की ट्रेड विंग के सेक्रेटरी थे पुलिस को कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने संदीप भारद्वाज की मौत पर ट्वीट कर दुख जताया है। वहीं BJP नेता तेजिंदर बग्गा ने ट्वीट कर संदीप भारद्वाज को श्रद्धॉंजलि दी है। ट्वीट में बग्गा ने लिखा है कि उनकी आत्महत्या के लिए जो भी लोग ज़िम्मेदार हैं वो बच नहीं पायेंगे।

कर लिया था सुसाइड- AAP की ट्रेड विंग के सेक्रेटरी संदीप भारद्वाज ने सुसाइड कर लिया है. गुरुवार शाम 4.40 PM पर पुलिस को सूचना मिली कि एक शख्स ने राजौरी गार्डन में अपने घर में फांसी के फंदे से लटक सुसाइड कर लिया है। आम आदमी पार्टी की तरफ से इस पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है। केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कार्यकर्ता संदीप भारद्वाज जी की आकस्मिक मृत्यु बेहद दुखद। संदीप भारद्वाज की मौत पर बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने कहा- ‘संदीप भारद्वाज ने आत्महत्या नहीं की, उनकी हत्या हुई है। हम चाहते हैं कि इस केस में उच्चस्तरीय जांच हो’

बीजेपी बोली- नहीं देख सकते तमाशा
मनोज तिवारी ने कहा, ‘अगर इस प्रकार से कट्टर ईमानदारी की बात करने के बाद भ्रष्टाचार और टिकटों की बिक्री और लोगो को मौत की कगार तक पहुंचाने की प्रक्रिया आएंगी तो भारतीय जनता पार्टी चुप रह के तमाशा नहीं देख सकती।’ मनोज तिवारी ने भाजपा द्वारा केजरीवाल की हत्या साजिश रचे जाने के आरोपों को लेकर कहा, ‘मैं अरविंद केजरीवाल की सुरक्षा को लेकर चिंतित हूं, सिसोदिया पुराना राग अलाप रहे हैं। केजरीवाल दावा कर रहे हैं कि सिसोदिया को गिरफ्तार किया जाएगा, जबकि सिसोदिया, केजरीवाल की हत्या की साजिश रचने की बात कर रहे हैं…पता नहीं क्या हो रहा है।’

गाजियाबाद : सामूहिक विवाह समारोह में शादी के बंधन में बंधे 3000 जोड़े, एक ही पंडाल के नीचे पंडित और मौलवी दोनों

0

कमला नेहरूनगर मैदान में गुरुवार को सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन किया गया। इस दौरान सभी धर्मों के 3000 जोड़े विवाह के बंधन में बंधे। समारोह में काफी संख्या में भीड़ एकत्र हुई। नजारा कुछ ऐसा था कि एक ही पंडाल के नीचे पंडितों ने मंत्रोच्चार किया तो मौलवियों ने निकाह पढ़वाया। यहां पर हिंदू, मुस्लिम, सिख और बौद्ध धर्म के युवक-युवतियों की शादी पूरे रीति रिवाज के साथ हुई।

बताया जा रहा है कि इस समारोह में करीब 30 हजार लोग शामिल हुए। सभी लोगों के लिए खाने पीने का इंतजाम किया गया था। यह पूरा कार्यक्रम श्रम विभाग की ओर से था। श्रम विभाग में जिन लोगों ने पंजीयन करा रखा था, उन लोगों को इस समारोह में शादी के बंधन में बांधने के इस भव्य कार्यक्रम में शामिल किया गया। योगी सरकार पहले ही इस तरह के कार्यक्रमों के अयोजन की घोषणा कर चुकी है।

प्रदेश में रहने वाले श्रमिकों को सरकारी योजनाओं से जोड़कर उनके और उनके परिवार की स्थिति को बहतर बनाने की सरकार तैयारी कर रही है। इसी कड़ी में अब 12 फरवरी को लखनऊ मंडल में सामूहिक विवाह का आयोजन किया जाएगा। श्रम विभाग पंजीकृत श्रमिकों की बेटियों का सामूहिक विवाह कराया जाएगा।

श्रम एंव सेवायोजन मंत्री अनिल ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में बच्चे के पैदा होने से लेकर उसके पूरे जीवन भर के लिए विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि गरीबी की जड़ अशिक्षा है, इसलिए नवोदय की तर्ज पर अटल आवासीय विद्यालयों की स्थापना की जा रही है, ताकि इस बुराई को जड़ से समाप्त किया जा सके।

प्रेमिका से शादी के लिए बीवी को घातक दवा देकर मार डाला, 5 महीने पहले ही हुई थी शादी

0

महाराष्ट्र के पुणे जिले के एक अस्पताल में 23 वर्षीय पुरुष नर्स ने अपनी पत्नी को घातक दवा देकर कथित तौर पर उसकी हत्या कर दी और इसे आत्महत्या बताने की कोशिश की. पौड पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बुधवार को बताया कि आरोपी स्वप्निल सावंत अपनी पत्नी को खत्म करना चाहता था, क्योंकि उसका एक नर्स के साथ संबंध था. यह नर्स निजी अस्पताल में उसकी सहयोगी थी और वह उससे शादी करने की योजना बना रहा था. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

अधिकारी ने कहा कि सावंत ने पीड़िता प्रियंका क्षेत्रे से पांच महीने पहले शादी की थी और दंपति मुलशी तहसील के कसार अंबोली गांव में किराए के मकान में रहते थे. 14 नवंबर को सावंत अपनी पत्नी को गंभीर हालत में अस्पताल ले गया. वहां डॉक्टरों ने प्रियंका को मृत घोषित कर दिया.

इंस्पेक्टर मनोज यादव ने कहा, “प्रियंका द्वारा हस्ताक्षरित एक कथित सुसाइड नोट मिला और सावंत के खिलाफ घरेलू हिंसा और आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया गया. हालांकि, जांच के दौरान पता चला कि सावंत ने वेकोरोनियम ब्रोमाइड, नाइट्रोग्लिसरीन इंजेक्शन और लॉक्स 2% सहित कुछ ड्रग्स और इंजेक्शन उस अस्पताल से चुराए थे, जहां वह काम करता था. कथित तौर पर अपनी पत्नी को इन्हीं दवाओं को खिलाकर उसने मार डाला. हमने संबंधित प्रावधानों के तहत उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और आगे की जांच जारी है.”

दिल्ली पुलिस कांस्टेबल ने झपटमार को दबोचा, तलाशी के दौरान 11 मोबाइल बरामद

0

असल न्यूज़: दिल्ली के शाहाबाद डेरी इलाके में दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल सतेंद्र ने बहादुरी दिखाते हुए एक झपटमार को दबोच लिया. दरअसल शाहाबाद पुलिस थाने की टीम को ये सूचना मिली थी कि शातिर झपटमार नीरज इलाके में वारदात करने आएगा, इसके बाद वहां पेट्रोलिंग टीम तैनात कर दी गई. इस दौरान कांस्टेबल सतेंद्र बाइक से पेट्रोलिंग कर रहे थे, उसी दौरान उन्हें नीरज दिखाई दिया.

सतेंद्र ने झपटमार को देखते ही अपनी बाइक से उसकी बाइक को टक्कर मार दी. इसके बाद आरोपी नीरज बाइक से गिर गया और फिर उठकर भागने लगा. लेकिन सतेंद्र ने बहादुरी दिखाते हुए उसे भागकर पकड़ लिया. जिसके बाद नीरज की तलाशी ली गई. तलाशी के दौरान उसके पास 11 मोबाइल बरामद हुए जो उसने लोगों से छीने थे, पुलिस के मुताबिक नीरज झपटमारी के 55 मामलों में शामिल है.

बैठक में नहीं पहुंचे डीएम-एसपी, किन्‍नर कल्याण बोर्ड की उपाध्‍यक्ष बोलीं- सीएम से करेंगे शिकायत

0

उत्तर प्रदेश किन्‍नर कल्याण बोर्ड की उपाध्यक्ष सोनम चिश्ती अधिकारियों से उचित सम्मान व महत्व न मिलने पर भड़क गईं। उन्होंने पूर्व सूचना के बाद भी डीएम व एसपी के न आने पर समाज कल्याण अधिकारी से कड़ी नाराजगी जताई। अधिकारियों की मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से शिकायत के साथ ही हाईकोर्ट में तलब कराने की चेतावनी दी।

किन्‍नर कल्‍याण बोर्ड की उपाध्‍यक्ष सोनम चिश्ती बुधवार को यहां किन्‍नर कल्याण बोर्ड की बैठक के साथ ही किन्‍नर समाज की ओर से आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग के लिए आयी थीं। दोपहर 12 बजे वह लोक निर्माण विभाग के निरीक्षण भवन पहुंचीं थीं। वहां जिला समाज कल्याण अधिकारी राजेश कुमार, जिला विकास अधिकारी पवन कुमार सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी अरविंद रस्तोगी, अपर नगर आयुक्त एसके सिंह मौजूद थे।

मीडिया से बातचीत में भी जताई नाराजगी
उपाध्यक्ष सोनम चिश्ती ने डीएम व एसपी के बारे में जानकारी ली। समाज कल्याण अधिकारी ने बताया कि वह चुनाव की जरूरी बैठक में हैं। इस पर उपाध्यक्ष ने कड़ी नाराजगी जताई। उन्होंने तीखे शब्दों में कहा कि पूर्व सूचना के बावजूद उपेक्षा बर्दाश्त नहीं की जाएगी। मीडिया से बातचीत में भी बोर्ड उपाध्यक्ष सोनम चिश्ती ने कहा कि किन्‍नर समाज के सम्मान व स्वाभिमान की अनदेखी नहीं होने दी जाएगी।

हाईकोर्ट में भी अफसरों को तलब करने की चेतावनी
डीएम, एसपी के बैठक में न आने की वह मुख्यमंत्री से शिकायत करेंगी। हाईकोर्ट में भी उपेक्षा का मुद्दा उठाकर अफसरों को तलब कराया जाएगा। कहा बोर्ड का गठन सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर हुआ है। किन्‍नर समाज को उचित सम्मान दिलाने तथा उनकी शिक्षा व स्वास्थ्य के लिए बोर्ड ने विशेष बजट की व्यवस्था भी कराई गई है।

याेगी बनें प्रधानमंत्री, किन्‍नर समाज कर रहा दुआ
किन्‍नर कल्याण बोर्ड की उपाध्यक्ष सोनम चिश्ती ने जागरण से बाचतीत में कहा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ किन्‍नर समाज के उत्थान के लिए विशेष कार्य कर रहे हैं। इसलिए किन्‍नर समाज उनके प्रधानमंत्री बनने की दुआ कर रहा है। किन्‍नरों की दिल से की गई दुआ बेकार नहीं जाती है।

बजुर्गों की जिंदगी में अंधेरा: आपरेशन के बाद चार की गल गई आंख, डाक्टर पर मुकदमा और अस्पताल का लाइेसेंस भी रद

0

आराध्या आइ हास्पिटल में मोतियाबिंद का आपरेशन कराने वाले छह बुजुर्गों में से चार की आंखें गल गई हैं। डाक्टरों ने दो की रोशनी लौटने की उम्मीद जताई है। बुधवार को दो और पीिड़त सामने आए। अब तक कुल आठ लोग आंखों की रोशनी गंवा चुके हैं।

आपरेशन से पहले बिना अनुमित परीक्षण शिविर लगाया गया था। न स्क्रीनिंग हुई, न सामान्य जांचें। आपरेशन खुद हास्पिटल संचालक डा. नीरज गुप्ता ने किए थे। एसीएमओ डा. एसके सिंह ने डा. नीरज गुप्ता और शिविर लगवाने वाले उत्तरीपुरा निवासी दुर्गेश शुक्ला के खिलाफ बर्रा थाने में धोखाधड़ी व जीवन संकट में डालने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है।

बीरामऊ में हुई थी जांच और आराध्या हास्पिटल में आपरेशन
शिवराजपुर के सुघरदेवा निवासी 70 वर्षीय राजाराम कुरील, 63 वर्षीय रमेश कश्यप, 63 वर्षीय नन्हीं उर्फ मुन्नी, 75 वर्षीय सुल्ताना, 72 वर्षीय शेर सिंह और 67 वर्षीय रमादेवी ने सीएमओ डा. आलोक रंजन से आपरेशन के बाद आंखों की रोशनी जाने की शिकायत मंगलवार को की थी। पीड़ितों ने दो नवंबर को शिवराजपुर क्षेत्र की बीरामऊ में शिविर में आंखों की जांच कराई थी। बर्रा स्थित आराध्या आइ हास्पिटल में तीन नवंबर को आपरेशन कराया था। आपरेशन के बाद उनकी रोशनी तो लौटी ही नहीं, अन्य समस्याएं भी बनी हुई हैं।

अस्पताल का लाइसेंस निरस्त
सीएमओ ने अस्पताल का लाइसेंस निरस्त कर दिया और जांच को समिति बनाई थी। बुधवार को जीएसवीएम मेडिकल कालेज के नेत्र रोग विभागाध्यक्ष प्रो. परवेज खान, प्रो. शालिनी मोहन, एसीएमओ डा. सुबोध प्रकाश व डा. एसके सिंह ने एलएलआर अस्पताल में पीड़ितों की जांच की। रमेश, मुन्नी, सुल्ताना और ज्ञानवती की आंखों में गंभीर संक्रमण है। पस पड़ने से कार्निया सफेद हो गया है। रमादेवी जांच कराने नहीं आईं। शेर सिंह और राजाराम की आंखों में रोशनी लौटने की उम्मीद दिखी है। बुधवार को गुडरा गांव की ज्ञानवती और राम आसरे शुक्ला की भी रोशनी नहीं लौटी है।

चार बुजुर्गों की गलने लगी आंख
जीएसवीएम मेडिकल कालेज में नेत्र रोग विभागाध्यक्ष प्रो. परवेज खान बताते हैं कि इन सभी में आपरेशन के बाद संक्रमण हुआ है। चार बुजुर्गों में गंभीर संक्रमण होने से आंख गलने लगी हैं। जरूरत पर आपरेशन भी होगा। प्रयास कर रहे हैं कि उनकी आंख निकालनी न पड़े। मेडिकल कालेज।

Noida: मोबाइल फोन छीनकर भाग रहा लुटेरा पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार, लूटी हुई बाइक और कई मोबाइल हुए बरामद

0

गुरुवार सुबह मॉर्निंग वॉक पर निकले व्यक्ति से मोबाइल फोन छीनकर भाग रहे लुटेरे को पुलिस ने मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसके पास से तीन मोबाइल फोन और चोरी की हुई मोटरसाइकिल और एक अवैध हथियार बरामद किया है।

एडीसीपी नोएडा आशुतोष द्विवेदी ने मामले को लेकर बताया कि थाना फेस-1 पुलिस की मुठभेड़ में बदमाश जय किशन उर्फ रोहित को गिरफ्तार किया है। मॉर्निग वॉक कर रहे पीड़ित व्यक्ति की सूचना पर पुलिस ने कार्रवाई को अंजाम दिया गया। पकड़ा गया बदमाश मूलरूप से बिहार का रहने वाला है। वर्तमान में वह आजादनगर दिल्ली में रह रहा था।

22,950FansLike
3,584FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Recent Posts