Home Blog

नशे के लिए करते थे अपराध, दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार

0

असल न्यूज़: सराय रोहिल्ला थाना पुलिस ने नशे के लिए आपराधिक वारदात को अंजाम देने वाले दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपित अभी हाल ही में जेल से छूट कर आए हैं। आरोपित प्रकाश और राजकुमार आनंद पर्वत इलाके के रहने वाले हैं। पुलिस ने इनके पास से दो बाइक, दो स्कूटी और सात झपटमारी के मोबाइल बरामद किए हैं। उपायुक्त सागर सिंह कल्सी ने बताया कि एसीपी राकेश त्यागी के देखरेख में इंस्पेक्टर जितेंद्र तिवारी के नेतृत्व में हवलदार संदीप, सिपाही अमित और जितेंद्र की टीम ने कमल टी पाइंट के पास से दोनों को पकड़ा है। आरोपितों ने पुलिस को देखकर भागने की कोशिश भी की थी। पूछताछ में पता चला कि दोनों आरोपित नशे के आदी हैं। नशा खरीदने के लिए आपराधिक वारदात करते थे।

चार शराब तस्कर गिरफ्तार, 31 कार्टून शराब बरामद

वहीं, दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने शराब तस्करी के आरोप में चार आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से 31 कार्टून (1497 क्वार्टर) हरियाणा निर्मित शराब बरामद की गई है। उक्त शराब मद्रासी कैंप झुग्गी, जंगपुरा व निजामुदीन में बेची जानी थी। इनके कब्जे से पुलिस ने तस्करी में इस्तेमाल आइ-20 कार समेत 21 मोबाइल फोन व 12 हजार रुपये भी जब्त कर लिए हैं।

डीसीपी अपराध शाखा मोनिका भारद्वाज के मुताबिक गिरफ्तार किए गए तस्करों के नाम के मणि, मुरगन, मुरुगेसन व आनंद है। चारों चेन्नई के रहने वाले हैं और यहां ये लोग कई सालों से जंगपुरा स्थित मद्रासी कैंप झुग्गी में रहकर शराब तस्करी का धंधा करते हैं। चारों आरोपित फरीदाबाद की रहने वाली शराब तस्कर रेनू से शराब लाकर उसे मद्रासी कैंप की झुग्गी में आपूर्ति करते थे। इस कैंप में प्रतिदिन 60-70 कार्टून शराब बेची जाती है। रेनू इन्हें प्रति कार्टून 100 रुपया बतौर कमीशन देती थी। एसीपी मयंक बंसल व इंस्पेक्टर सतेंद्र मोहन के नेतृत्व में अपराध शाखा की टीम ने चारों को मद्रासी कैंप से रविवार रात गिरफ्तार किया।

इन सर्दियों में कितना बड़ा खतरा बन सकते हैं कोविड और फ्लू?

0

असल न्यूज़: ब्रिटेन को छोड़कर ज्यादातर पश्चिमी देशों में कोरोना वायरस संक्रमण या तो कम है या घट रहा है लेकिन वैश्विक महामारी का खतरा पूरी तरह से दूर होने से पहले अभी लंबा रास्ता तय करना बाकी है. सर्दियों के इस मौसम में चिंता का सबसे बड़ा विषय है कोविड का प्रकोप पुन: शुरू होना और उसके साथ-साथ श्वसन तंत्र के अन्य रोगों खासकर इन्फ्लूएंजा का और मजबूती से हमला करना. यह  बातें यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्ट एंग्लिया में प्रोफेसर ऑफ मेडिसिन पॉल हंटर ने कहीं. कोविड और इन्फ्लूएंजा के लिए प्रतिरक्षा तंत्र की प्रतिक्रिया कमोबेश समान होती है. हाल में हुआ संक्रमण या टीकाकरण आगे किसी संक्रमण के खिलाफ अच्छा बचाव करते हैं लेकिन यह बचाव धीरे-धीरे कमजोर पड़ने लगता है. हालांकि इनके बाद पुन: होने वाला संक्रमण या तो लक्षण रहित होता है या फिर बहुत ही मामूली होता है. लेकिन प्रतिरक्षा विकसित होने और फिर से संक्रमण होने के बीच का अंतराल यदि लंबा हो तो पुन: होने वाले संक्रमण के अधिक गंभीर होने की आशंका रहती है.

जब फ्लू शुरू होगा तो अधिकाधिक लोग होंगे प्रभावित
हंटर ने कहा कि इन हालात में जब फ्लू का प्रकोप शुरू होगा तो यह अधिकाधिक लोगों को प्रभावित करेगा और सामान्य परिस्थितियों के मुकाबले अब लोगों को गंभीर रूप से बीमार करेगा. ऐसा ही, श्वसन तंत्र को प्रभावित करने वाले अन्य वायरस भी करेंगे. शायद ऐसा हो भी रहा हो. ब्रिटेन में अभी इन्फ्लूएंजा की दर कम है लेकिन यदि वायरस फैलने लगा तो परिस्थितियां तेजी से बदल सकती हैं. अच्छी बात यह है कि हमारे पास फ्लू रोधी सुरक्षित एवं प्रभावी टीके हैं जो संक्रमण का जोखिम तो कम करते ही हैं, गंभीर रोग से भी बचाते हैं. हालांकि फ्लू रोधी टीके, कोविड रोधी टीकों जितने प्रभावी नहीं हैं.

उन्होंने कहा कि फ्लू के वायरस तेजी से बदलते हैं और उनके कई स्वरूपों का प्रकोप हो सकता है. ये स्वरूप हर साल बदल जाते हैं. वायरस का जो स्वरूप हावी रहने वाला है यदि वह टीके में शामिल नहीं है तो टीके का प्रभाव भी कम रहेगा. बीते 18 महीने में फ्लू के मामले इतने कम रहे हैं कि यह अनुमान लगाना कहीं अधिक मुश्किल होगा कि वायरस का कौन सा स्वरूप अधिक संक्रामक हो सकता है. कोविड के साथ-साथ अन्य संक्रमण (बैक्टीरियल, फंगल या वायरल संक्रमण) होने का भी जोखिम है. अस्पताल में भर्ती कोविड मरीजों पर किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि उनमें से 19 फीसदी किसी अन्य संक्रमण से भी पीड़ित थे. ऐसे मरीज जिन्हें कोविड के अतिरिक्त भी कोई संक्रमण हो उनकी जान जाने का जोखिम अधिक रहता है.

हंटर ने कहा कि जब कोरोना वायरस का प्रकोप शुरू ही हो रहा था तब इन्फ्लूएंजा भी फैल रहा था. ब्रिटेन के अध्ययनकर्ताओं ने दो तरह के मरीजों की तुलना की. पहले तो वे जो सिर्फ कोविड से पीड़ित थे और दूसरे वे जिन्हें कोविड के साथ-साथ इन्फ्लूएंजा भी था. दोनों तरह के संक्रमण से पीड़ित लोगों को गहन चिकित्सा इकाई में भर्ती करने की जरूरत और वेंटीलेशन सुविधा की जरूरत दो गुना अधिक रही तथा उनके मरने का खतरा भी अधिक रहा. यह कहना तो संभव नहीं है कि ब्रिटेन में इस वर्ष इन्फ्लूएंजा का प्रकोप काफी अधिक होगा लेकिन अगर नहीं भी होता तो यह तो निश्चित है कि इसका प्रकोप जल्द ही होगा. यदि इन्फ्लूएंजा लौटता है तो यह कोविड से पहले के वर्षों के मुकाबले अब अधिक लोगों को प्रभावित करेगा और इसके कारण मरने वाले लोगों की संख्या भी अधिक होगी.

होल्मंबी कला में मनाया गया राष्ट्रीय महिला किसान दिवस

0

नीति सैन। नरेला विधानसभा क्षेत्र के वार्ड नंबर 4 होलंबी कला गांव में मनाया गया राष्ट्रीय महिला किसान दिवस इस अवसर पर किसान कल्याण परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुधीर त्यागी ने अपने निवास स्थान होलंबी कलां व मेट्रो विहार फेस 2 फेस 1 में जाकर महिलाओं को राष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं दी व कोविड-19 के दौरान जो महिलाएं बेरोजगार हो गई थी।

उनके लिए काम की व्यवस्था की बात की आपको बता दें राष्ट्रीय महिला किसान दिवस 15 अक्टूबर से लेकर 21 अक्टूबर तक मनाया जाएगा इसका समापन राजधानी दिल्ली के ऑडिटोरियम में किया जाएगा। राष्ट्रीय महिला किसान दिवस भारत के विभिन्न स्थानों पर महिला किसान दिवस के मौके पर राष्ट्रीय अध्यक्ष सुधीर त्यागी ने कहा मैं विभिन्न स्वयंसेवकों के साथ तालमेल बिठाने का काम कर रहे हैरहा हूँ। तथा बुजुर्गों की मदद भी कर रहे है।

कोरोना नियमों के तहत दी गई ढील का फायदा उठा रहे है SRHC अस्पताल के बड़े डॉक्टर

0

असल न्यूज़: बाहरी दिल्ली के नरेला के सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल में बड़े डॉक्टर निर्धारित समय से अस्पताल नहीं आ रहे हैं, जिसका खामियाजा मरीजों को भुगतना पड़ रहा है। सूत्रों का कहना है कि बॉयोमेट्रिक मशीन से हाजिरी न होने के कारण ऐसा हो रहा है। सूत्रों की सलाह है कि यदि यह जानकारी अस्पताल प्रशासन “गलत होना” बताता है तो अस्पताल में लगे सीसीटीवी कैमरे जांच सकता है और दोषी डॉक्टर्स व अन्य स्टाफ पर नियमानुसार एकशन ले सकता है।

मरीजों के साथ आने वाले परिजनों ने बताया कि मौसमी बीमारियों के कारण पीड़ित मरीजों की ड़ेंगू व अन्य कई जांचे भी नहीं हो पा रही है। वहीं, मरीजों ने बताया कि अस्पताल सुबह 8 बजे खुल जाता है लेकिन बड़े डॉक्टर 10 बजे बाद ही अस्पताल आते है लेकिन उसके बाद भी वह ओपीडी के कक्ष में नहीं आते है और किसी अन्य कक्ष में बैठकर टाइम पास करते रहते हैं। मरीजों ने यह भी बताया कि कुछ जरूरी जांचे व दवाइयां भी अस्पताल में नहीं मिलती है।

रामनवमी के पावन अवसर पर भंडारे का आयोजन।

0

नई दिल्ली। श्रीराम नवमी के पावन अवसर पर सुमित जैन एंड एसोसिएट्स के तत्वावधान में हरगोबिंद एंक्लेव में प्रातः काल से प्रभु इच्छा तक शारदीय नवरात्र में मां दुर्गा और प्रभु श्री राम की पूजा अर्चना कर विशाल भंडारे का आयोजन किया गया।इस अवसर पर प्रबुद्ध समाजसेवी बालेश जैन, भाजपा एससी मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री संजय निर्मल, जिला एससी मोर्चा मंत्री चेतन निर्मल, शाहदरा जिला युवा अध्यक्ष पंकज कोचर,डी.के.जैन,अनुज मित्तल(भाजपा नेता), राहुल जैन सहित भारत सरकार के कई वरिष्ठ अधिकारियों ने भी पूजा अर्चना कर भंडारा वितरित किया।साथ ही इस प्रसाद को पैक कर अस्पतालों में भर्ती मरीजों के तीमारदारों को वितरित कर उनके एडमिट मरीजों के जल्द स्वस्थ लाभ की कामना की गई।

सिंघु बॉर्डर पर किसान आंदोलन के मंच के पास यूवक की हत्या, युवक की लाश का वीडियो आया सामने

0

दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर (Delhi-Haryana Border) पर सोनीपत जिले के सिंघु बॉर्डर पर एक युवक की बर्बर तरीके से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. मारे गए युवक पर गुरु ग्रंथ साहिब से छेड़छाड़ करने का आरोप है. तीनों कृषि कानूनों को रद्द कराने की मांग पर चल रहे किसानों के विरोध-प्रदर्शन के मुख्य स्थल के पीछे बैरिकेड पर युवक की लाश बंधी और लटकी हुई मिली है. लाश देखने से साफ होता है कि उसके साथ बर्बरता की गई है. मौके पर खून बिखरे पड़े थे.

प्रारंभिक रिपोर्टों में निहंगों- एक ‘योद्धा’ सिख समूह- पर हरियाणा के सोनीपत जिले के कुंडली इलाके में हुई इस क्रूर और बर्बर हत्या का आरोप लगाया जा रहा है. वाकये का एक वीडियो सामने आया है जिसमें निहंगों के एक समूह को शख्स के ऊपर चढ़ा हुआ दिखाया जा रहा है. शख्स के बाएं हाथ की कलाई कटी हुई है और जमीन पर बहुत खून बिखरा पड़ा है. तस्वीर से साफ होता है कि हत्या से पहले उसके साथ मारपीट की गई है और उसे घसीटा गया है. लाश के दोनों हाथ बैरिकेड से बंधे हुए हैं. आरोप है कि धरना स्थल पर ही मौजूद कुछ लोगों ने इस वारदात को अंजाम दिया है. आरोप निहंगों पर लग रहे हैं.

सोनीपत पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवा दिया है लेकिन उसकी शिनाख्त नहीं हो सकी है. शुक्रवार की सुबह प्रदर्शनकारी किसानों के मुख्य मंच के पीछे यह लाश मिली है. सूचना पर जैसे ही पुलिस वहां पहुंची, उसे विरोध का सामना करना पड़ा लेकिन बीच-बचाव के बाद पुलिस ने शव को अपने कब्जे में कर लिया.

शराब पार्टी में पति ने दोस्तों को सौंप दी पत्नी, पार कर दी अश्लीलता हदें

0

असल न्यूज़। सदर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में पति-पत्नी के रिश्ते उस समय शर्मसार हो गए, जब एक शराबी पति ने अमानवीयता की हदें पार कर दीं। घर पर शराब पार्टी के बाद दोस्तों को अपनी पत्नी सौंप दी। दोस्तों ने अश्लील व्यवहार और जोरजबरदस्ती की तो परेशान पत्नी ने किसी तरह भाइयों को फोन करके जानकारी दी। कुछ देर में भाई आए तो उनकी भी पिटाई करके भगा दिया। घटना संज्ञान में आने के बाद एसपी ने सदर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने घटना की छानबीन और शराब पार्टी करने वाले पति व उसके दोस्तों की तलाश शुरू की है।

विवाह के समय सात फेरे में प्रत्येक के साथ पति द्वारा पत्नी को किया एक वचन भी होता है। इसमें ही पत्नी की सुरक्षा और सम्मान को बरकार रखने का भी वचन होता है। सतयुग में तो मर्यादा पुरुषोत्तम राम ने इसी वचन को निभाने के लिए माता सीता की रक्षा के लिए लंका पर चढ़ाई करके रावण का वध किया था। लेकिन, कन्नौज में एक युवक ने पति-पत्नी के रिश्ते को शर्मसार कर दिया और सुरक्षा-सम्मान के वचन को भूल पत्नी को दोस्तों के सामने ही लाकर रख दिया। ये घटना सदर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में सामने आई है।

पीड़ित महिला ने पुलिस को दी तहरीर में आरोप लगाया है कि उसका पति आए दिन शराब पीकर मारपीट करता है। वह दहेज कम मिलने का ताना देता है। शुक्रवार शाम उसने अपने दोस्त अक्षय, नंंदन और नीरज को घर बुुलाया और शराब पी। इसके बाद उसने पत्नी को दोस्तों के हवाले कर दिया। महिला के मुताबिक पति के दोस्तों ने उसके साथ अभद्र व्यवहार करते हुए अश्लील हरकतें कीं। उसने भाइयों को मामले की जानकारी दी तो दस किलोमीटर दूर मायके से दोनों भाई वहां आ गए।

आरोपितों ने उनके साथ भी मारपीट की। किसी तरह चंगुल से छूटकर वह शनिवार सुबह पुलिस अधीक्षक प्रशांत वर्मा से मिली और उन्हें घटना से अवगत कराया। महिला ने बताया कि पति पहले भी ऐसी हरकतें कर चुका है और इसकी शिकायत सदर कोतवाली में भी की थी, लेकिन पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। सदर कोतवाली में पति और उसके तीनों दोस्तों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। प्रभारी निरीक्षक आलोक कुमार दुबे ने बताया कि आरोपितों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

BJP प्रत्याशी को मिला सिर्फ 1 वोट, घर मे ही 5 सदस्य थे

0

असल न्यूज़: देश और दुनिया की सबसे बड़ा राजनीतिक दल होने का दावा करने वाली भारतीय जनता पार्टी को तमिलनाडु में चल रहे निकाय चुनाव में ऐसी परिस्थिति का सामना करना पड़ा है कि सबसे बड़ा राजनीतिक दल होने के दावे पर ही सवाल उठ जाएं। तमिलनाडु के स्थानीय निकाय चुनाव में बीजेपी के टिकट पर वार्ड मेंबर का चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशी को सिर्फ एक ही वोट मिल पाया है, हैरानी की बात तब ज्यादा है जब भाजपा प्रत्याशी के परिवार में ही 5 वोट थे। यानि भाजपा प्रत्याशी को सिर्फ खुद का ही वोट मिला है और परिवार के किसी सदस्य ने भी उसको वोट नहीं डाला है।

यह खबर मीडिया में फैल गई और ट्विटर पर #Single_Vote_BJP ट्रेंड करने के साथ वायरल हो गई। लेखिका और कार्यकर्ता मीना कंदासामी ने ट्वीट करते हुए कहा, “स्थानीय निकाय चुनावों में भाजपा उम्मीदवार को केवल एक वोट मिला है। उनके घर में मौजूद चार अन्य मतदाताओं पर गर्व है जिन्होंने दूसरों को वोट देने का फैसला किया।”

निकाय चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी डॉ कार्तिक वार्ड मेंबर के पद के लिए कोयंबटूर जिले में चुनाव लड़ा था, लेकिन तमाम प्रचार के बावजूद कार्तिक सिर्फ 1 ही वोट ले सका। हालांकि भाजपा प्रत्याशी के अलावा एक और प्रत्याशी भी रहा जो उसी सीट पर चुनाव लड़ रहा था और उसे भी सिर्फ 2 ही वोट मिल सके हैं।

वार्ड मेंबर के लिए जिस सीट पर यह चुनाव हो रहा था वहां पर कुल 913 वोट पड़े हैं और चुनाव जीतने वाले प्रत्याशी को 387 वोट प्राप्त हुए हैं, जबकि दूसरे नंबर पर रहे प्रत्याशी को 240, तीसरे नंबर पर रहे प्रत्याशी को 196 और चौथे नंबर पर रहे प्रत्याशी को 84 वोट प्राप्त हुए हैं। कुल 6 प्रत्याशियों ने चुनाव लड़ा था, 3 वोट रद्द भी हुए हैं।

समझौता करने के लिए होटल पहुंचा, युवती से दोबारा किया दुष्कर्म

0

असल न्यूज़। एमपी नगर थाना पुलिस ने एक युवती की शिकायत पर दुष्कर्म के आरोपित पर फिर से ज्यादती करने का केस दर्ज किया है। घटना एमपी नगर की एक होटल में हुई। युवती मूलत: ग्‍वालियर की रहने वाली है। एमपी नगर थाना पुलिस के मुताबिक 25 वर्षीय युवती ने शिकायत में बताया कि ग्वालियर में उसका परिचय नरेंद्र पांडे से हुआ था। जून 2020 में नरेंद्र ने उसकी मांग में सिंदूर भरकर शादी करने का ढोंग किया। इसके बाद शरीरिक शोषण शुरू कर दिया। संबंधों की चर्चा होने लगी तो नरेंद्र उसे लेकर इंदौर चला गया था। कुछ माह बाद नरेंद्र उसके साथ भोपाल के करोंद में किराए के मकान में रहने लगा। युवती जब भी उससे कोर्ट में शादी करने की बात कहती थी, तो टाल देता था।

इस बीच युवती को नरेंद्र के पहले से शादीशुदा होने की बात पता चली। विवाद होने पर नरेंद्र उसे करोंद वाले घर में छोड़कर भाग गया। जून 2021 में युवती की शिकायत पर निशातपुरा थाने में नरेंद्र के खिलाफ दुष्कर्म का केस दर्ज कर लिया गया था। मामले की पेशी आठ अक्टूबर को थी। युवती एमपी नगर के एक होटल में ठहरी थी। युवती ने पुलिस को बताया कि केस के संबंध में बात करने के बहाने से आरोपित नरेंद्र उसके पास पहुंचा था। नरेंद्र ने जान से मारने की धमकी देकर उसके साथ जबरन दुष्कर्म किया। शिकायत के आधार पर पुलिस ने ज्यादती करने का केस दर्ज कर लिया है।

Delhi: पति ने हथौड़े से पत्नी के सिर पर किए ताबड़तोड़ वार, PCR टीम ने बचाया

0

दिल्ली। एक युवक हथौड़े से अपनी पत्नी के सिर पर ताबड़तोड़ वार कर रहा था। पत्नी चीखने-चिल्लाने लगी तो करीब 200 मीटर दूर खड़े पीसीआर स्टाफ के कानों में आवाज पहुंच गई। पुलिसकर्मियों ने जाकर महिला को पति के चंगुल से छुड़ाया और पति को मौके पर ही दबोच लिया।

जख्मी हालत में पूनम (28) को एलबीएस अस्पताल ले जाया गया, जहां से जीटीबी अस्पताल रेफर कर दिया। पुलिस ने आरोपी पति रिंकू (34) को दबोच लिया। पूछताछ में उसने बताया कि पत्नी से विवाद चल रहा था, इसलिए वह उसकी हत्या करना चाहता था। पुलिस ने कातिलाना हमला का केस दर्ज कर आरोपी को अरेस्ट कर लिया।

पुलिसकर्मियों ने जाकर महिला को पति के चंगुल से छुड़ाया और पति को मौके पर ही दबोच लिया। जख्मी हालत में पूनम (28) को एलबीएस अस्पताल ले जाया गया, जहां से जीटीबी अस्पताल रेफर कर दिया जहा घायल पूनम का इलाज चल रहा है।

22,657FansLike
2,986FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Recent Posts