Home Blog

यूपी के प्रमुख शहरों में आज 1 लीटर पेट्रोल-डीजल के लिए क्या कीमत चुकानी होगी? लेटेस्ट रेट यहां करें चेक

0

असल न्यूज़: सरकारी तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल के आज के रेट जारी कर दिए हैं. हालांकि आज भी फ्यूल के रेट में ना तो कोई कटौती की गई है और ना ही कोई बढ़ोतरी हुई है.सुबह 6 बजे से पेट्रोल-डीजल की नई दरें लागू हो गई हैं. गौरतलब है कि 21 मई को केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर 8 रुपये और डीजल पर 6 रुपये प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी कम कर दी थी जिसके बाद यूपी समेत तमाम राज्यों में तेल की कीमत कम हो गई है. वहीं मंगलवार, 23 मई को भी राजधानी लखनऊ सहित प्रदेश के सभी प्रमुख शहरो में पेट्रोल-डीजल के रेट में कोई खास बदलाव नहीं किया गया है. चलिए यहां जानते हैं यूपी के सभी प्रमुख शहरों में पेट्रोल-डीजल के ताजा रेट क्या हैं.

यूपी के प्रमुख शहरों में पेट्रोल-डीजल की क्या है नई कीमत?

आगरा- पेट्रोल 96.27 रुपये और डीजल 89.44 रुपये प्रति लीटर
लखनऊ- पेट्रोल 96.42 रुपये और डीजल 89.62 रुपये प्रति लीटर
गोरखपुर- 96.97 रुपये और डीजल 90.14 रुपये प्रति लीटर
गाजियाबाद- पेट्रोल 96.58 रुपये और डीजल 89.75 रुपये प्रति लीटर
नोएडा- पेट्रोल 96.79 रुपये और डीजल 89.96 रुपये प्रति लीटर
मेरठ- पेट्रोल 96.31 रुपये और डीजल 89.49 रुपये प्रति लीटर
मथुरा- पेट्रोल 96.22 रुपये और डीजल 89.39 रुपये प्रति लीटर
कानपुर- पेट्रोल 96.60 रुपये और डीजल 89.78 रुपये प्रति लीटर
वाराणसी- पेट्रोल 96.57 रुपये और डीजल 89.77 रुपये प्रति लीटर
इस तरह जान सकते हैं अपने शहर के पेट्रोल-डीजल के ताजा रेट

अगर आप अपने शहर के पेट्रोल-डीजल की कीमत जानना चाहते हैं तो एसएमएस के जरिए आसानी से जान सकते हैं. इसके लिए आपको इंडियन ऑयल की वेबसाइट पर जाना होगा. यहां आपको RSP और अपने शहर का कोड लिखकर 9224992249 नंबर पर भेजना होगा. याद रहे कि हर शहर का कोड अलग-अलग है जो आपको आईओसीएल की वेबसाइट पर मिल जाएगा.

लूट का विरोध करना शख्स को पड़ा महंगा, बदमाशों ने मारी गोली, स्थिति खतरे से बाहर

0

असल न्यूज़: पश्चिमी दिल्ली से चौकाने वाली खबर सामने आई है, दरअसल एक 35 वर्षीय व्यक्ति से बदमाशों ने सोने की चेन, ब्रेसलेट छीनने की कोशिश में उसे गोली मार दी. मृतक की पहचान पश्चिमी दिल्ली के हरि नगर निवासी प्रदीप सिंह संधू के रूप में हुई है. पुलिस अधिकारी घनश्याम बंसल ने कहा कि, ये घटना रविवार करीब 11.20 बजे की है. जब प्रदीप अपने भाई के साथ हरि नगर घंटाघर के पास लॉ सिमरजीत में आइसक्रीम खा रहा था.

डीसीपी ने कहा, “एक कार में आए चार लोगों ने सोने की चेन और ब्रेसलेट छीनने के लिए एक राउंड फायर किया, जिससे प्रदीप के गाल पर चोट लग गई.” लेकिन अब स्थिति खतरे से बाहर है. तदनुसार, भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत एक मामला था और जांच शुरु हो चुकी है. पुलिस ने आरोपी को पकड़ने के लिए कई टीमों का गठन किया है. वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “क्षेत्र के सीसीटीवी की जांच की जा रही है. आंकड़ों की भी जांच की जा रही है. सूत्रों को तैनात किया गया है.”

हाल ही सामने आया था ऐसा मामला

दिल्ली के सरोजिनी नगर इलाके में एक घर में लूटपाट करने के आरोप में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. आरोपियों की पहचान आरके पुरम निवासी शुभम (20), निजामुद्दीन निवासी आसिफ (19) और जामिया नगर का रहने वाला मोहम्मद शरीफुल मुल्ला (41) के रूप में की गई है. पुलिस ने कहा कि एक विशेष टीम ने अपराधियों की पहचान के लिए निगरानी फुटेज इकट्ठा करने की कोशिश की लेकिन आस पड़ोस में कोई कैमरा न रहने की वजह से काफी दिक्कतें आई. जांच के दौरान पुलिस को शुभम नाम के युवक के बारे में जानकारी मिली. पुलिस ने कहा कि उन्होंने शुभम नाम के अपराधियों के करीब 150 डोजियर चेक किए और आरोपियों की पहचान की. पुलिस ने खुलासा किया है कि आरोपियों में से एक पहले भी जेल में रहा है और वो गर्लफ्रेंड को गिफ्ट देने के चक्कर में लूटपाट की वारदात को अंजाम देता था.

दिल्ली ट्रिपल सुसाइड केस : मां-बहन की मौत सुनिश्चित करने को अंकिता ने ही घर को बनाया था गैस चैम्बर; मौत से पहले खिलाई थीं नींद की गोलियां

0

दिल्ली के वसंत विहार इलाके में ट्रिपल सुसाइड के मामले में एक और चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है। बीमार मां मंजू और बहन अंशुता की मौत सुनिश्चित करने के लिए अंकिता ने घर को गैस चैम्बर बनाने का तरीका चुना था। अंकिता अपने बाद किसी भी कीमत पर दोनों को जिंदा रखना नहीं चाहती थी क्योंकि उसे डर था कि अगर दोनों बच गईं तो उनकी देखभाल कौन करेगा।

सुसाइड नोट की जांच करने वाले पुलिस अधिकारी ने बताया कि पिता की मौत के बाद घर का सारा काम और नौकरी अंकिता ही करती थी। वह नौकरी करने के बाद भी घर का गुजारा नहीं चला पा रही थी। उधर, रिश्तेदारों और पड़ोस के लोगों से उसके परिवार के संबंध पूरी तरह से खत्म हो गए थे। ऐसे में अकेलेपन और आर्थिक स्थिति बिगड़ने के चलते तीनों अवसाद का शिकार हो गए थे। समय से मदद और इलाज नहीं मिलने के चलते उन्होंने आत्महत्या जैसा कदम उठाया।

पुलिस अधिकारी के मुताबिक, इस घटना को अंकिता ने अपनी बहन के साथ मिलकर अंजाम दिया था। दोनों बहनें अवसादग्रस्त थीं, जिसमें अंशुता की स्थिति ज्यादा खराब थी। ऐसे में अंकिता किसी भी कीमत पर अपनी मां और अंशुता को अपनी मौत के बाद जिंदा नहीं देखना चाहती थी, इसलिए अंकिता ने घर को गैस चैम्बर बनाने से पहले मां और बहन को नींद की गोली खिला दी थी, जिससे घुटन होने पर दोनों खुद को बचाने की कोशिश न कर सकें।

अधिकारी का कहना है कि सभी सुसाइड नोट पढ़ने के बाद एक बात साफ हो जाती है कि मंजू और उसकी दोनों बेटियां उमेश की मौत के बाद खासा परेशान थीं। उनका सामाजिक दायरा बड़ा नहीं होने के चलते तीनों अकेली पड़ गई थीं, जिसके चलते उन्होंने खुद को घर में बंद कर लिया था। जरूरत का सामान लेने के लिए वह घरेलू सहायिका कमला को बाहर भेजती थीं या फिर अंकिता ऑनलाइन सामान मंगवाया करती थी।

पांच से आठ मिनट में मौत : एफएसएल टीम के सूत्रों ने बताया कि शुरुआती जांच के बाद ऐसा लगा रहा है कि घर को गैस चैम्बर में बदलने से पहले तीनों ने नींद की गोली खाई थीं। अगर ऐसा न होता तो जितनी तेजी से तीन अंगीठी जलने के बाद घर में कार्बन मोनोक्साइड गैस बनी होगी। उससे दम घुटने पर व्यक्ति जान बचाने के लिए भागने लगता है, लेकिन यहां ऐसा नहीं हुआ। नींद की गोली की वजह से तीनों को दम घुटने का पता ही नहीं चला और पांच से आठ मिनट के दौरान मौत हो गई होगी।

चूहे भी मृत अवस्था में मिले : घर के हर उस हिस्से को बंद कर दिया गया था, जहां से हवा या रोशनी आती है, ताकि कहीं से भी गैस का रिसाव न हो सके। गैस का रिसाव शुरू होते ही घर में मौजूद चूहे भी बाहर नहीं निकल सके। एफएसएल की टीम को छह चूहे घर में मृत अवस्था में मिले हैं।

कोई भी हमें बचाने की कोशिश नहीं करे

पुलिस अधिकारी ने बताया कि मौके से मिले सुसाइड नोट में लिखा है कि हमें बचाने की कोशिश न करना। अगर हम बच भी गए तो हमारे लिए यह बहुत खतरनाक होगा। हमारा ब्रेन डैमेज हो चुका होगा और हमारी जिंदगी बर्बाद हो चुकी होगी। हम भीख मांगते हैं कि हमें कोई भी नहीं बचाए। हम खुद मरना चाहते हैं।

छोटी बेटी अंशुता को पिता से था लगाव

मंजू के भतीजे प्रवीण श्रीवास्तव ने बताया कि छोटी बेटी अंशुता को पिता उमेश श्रीवास्तव से ज्यादा लगाव था। प्रवीण ने बताया कि उमेश एक सीए के पास काम करते थे। वह अंशुता को भी सीए बनाना चाहते थे, जिसके लिए वह उसकी तैयारी करवा रहे थे। उमेश अंशुता को कोचिंग सेंटर से लेकर बाजार तक खुद लेकर जाते थे।

क्या है विशेषज्ञों की राय?

इहबास अस्पताल के मनोचिकित्सक डॉ. ओमप्रकाश ने बताया कि आत्महत्या के दो रूप होते हैं एक एक्सटेंट सुसाइड और दूसरा पैक्ड सुसाइड। एक्सटेंट सुसाइड में मरने वाला व्यक्ति अपने साथ उन सभी लोगों को मार देता है, जो उस पर निर्भर करते हैं। वह अपने बाद उनके भविष्य को लेकर चिंतित होता है, जबकि पैक्ट सुसाइड में आत्महत्या करने वाले सभी लोग एक साथ तय करते हैं कि उन्हें मरना है, जिसके चलते सभी एक ही तरीके से आत्महत्या कर लेते हैं।

जींद में ट्रक और पिकअप वैन की जबर्दस्त टक्कर, 6 लोगों की मौके पर ही मौत, करीब 17 लोग घायल

0

असल न्यूज़: हरियाणा के जींद जिले में ट्रक और पिकअप वैन की जबर्दस्त टक्कर में छह लोगों की मौत हो गई और करीब 17 अन्य घायल हैं। सभी घायलों को पास के अस्पाल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने हादसे की जांच शुरू कर दी है।

मृतकों की अभी शिनाख्त नहीं हो सकी है। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। हादसे का कारण जानने के लिए आसपास के लोगों से जानकारी जुटाई जा रही है।

जींद के सदर थाना प्रभारी दिनेश कुमार ने मंगलवार को बताया कि कंडेला गांव के पास ट्रक और पिकअप वैन की टक्कर हो गई थी। वैन में 23 यात्री सवार थे जिसमें 6 लोगों की मृत्यु हो गई। अन्य घायल लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अभी किसी व्यक्ति ने बयान नहीं दिया है, बयान देने के बाद मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

चलती बस से गुटखा थूकने लगा ड्राइवर, ट्रेलर से टकराई; 4 यात्रियों की मौत

0

दिल्ली: कोटा जिले के सिमलिया थाना इलाके में नेशनल हाईवे 27 पर मंगलवार की सुबह दर्दनाक सड़क हादसा हो गया। यहां स्लीपर कोच की एक बस आगे चल रहे ट्रेलर से टकरा गई। हादसे में 4 लोगों की मौत हो गई। वहीं आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। घायलों को उपचार के लिए अलग-अलग अस्पतालों में भेजा गया है। घटना के समय बस में सवार कई यात्री सो रहे थे। यह बस गुजरात से उत्तर प्रदेश की तरफ जा रही थी। हादसे के बाद मौके पर कोहराम मच गया।

50 से अधिक लोग सवार थे बस में

पुलिस ने बताया कि उत्तर प्रदेश राज्य की स्लीपर कोच बस में 50 से अधिक लोग सवार थे। ये बस कराडिया पेट्रोल पंप के नजदीक सड़क हादसे का शिकार हुई। जिसमें 3 लोगों की मौके पर ही और एक की कोटा अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हुई है। वहीं घटना की सूचना के बाद ग्रामीण पुलिस अधीक्षक कावेन्द्र सिंह सहित अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए।

गुटखा थूकते समय बिगड़ा बस का संतुलन

मौके पर पहुंची पुलिस और बस में बैठे यात्रियों ने बताया कि सिमलिया टोल प्लाजा क्रॉस करने के बाद बस रूकी थी और बस चालक ने गुटका भी खाया था। जैसे ही बस रवाना हुई अचानक बस चालक ने गुटका थूकने के दौरान आगे चल रहे ट्रेलर को ओवरटेक करने की कोशिश की।

जिससे बस का संतुलन बिगड़ गया और बस का एक हिस्सा ट्रेलर के पिछले हिस्से से जा टकराया। पुलिस का कहना है कि बस में 3 चालक मौजूद थे। जिनमें से दो की मौत हो गई और जो बस चला रहा था वह मौके से फरार हो गया है।

बढ़ सकती है मृतकों की संख्या

बस हादसे में घायल यात्रियो में कुछ की हालत गंभीर बनी हुई है। एक यात्री का कहना है कि बस में सवार कई यात्री सो रहे थे। जिस वजह से यात्रियों को संभलने का मौका तक नहीं मिला और यह बस हादसे का शिकार हो गई। जिस जगह से बस क्षतिग्रस्त हुई उस जगह पर कई यात्री फंस गए जिनको काफी मशक्कत के बाद बाहर निकाला गया। चिकित्सकों का कहना है कि कई यात्रियों की हालत अब भी गंभीर बनी हुई है। जिनको बचाने की पूरी कोशिश की जा रही है।

महंगाई पर डबल अटैक की तैयारी, पेट्रोल और डीजल के बाद इन चीजों पर भी मिल सकती है राहत

0

असल न्यूज़: पेट्रोल, डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में बड़ी कटौती और रसोई गैस पर गरीबों को 200 रुपये की सब्सिडी देने के बाद केंद्र सरकार कुछ और राहतों पर विचार कर रही है। पूरे मामले की जानकारी रखने वाले लोगों का कहना है कि एडिबल ऑइल जैसी चीजों पर कस्टम ड्यूटी घटाई जा सकती है। इसके अलावा आयात होने वाले कुछ कच्चे माल पर भी राहत मिल सकती है। इससे कई उत्पादों के दामों में कमी आ सकती है। कई आयातों पर एग्रिकल्चर इन्फ्रास्ट्रक्चर डिवेलपमेंट सेस लगता है। उस पर भी कटौती किए जाने पर विचार चल रहा है। दरअसल सरकार महंगाई को थामने पर विचार कर रही है ताकि ब्याज दरों में इजाफा होने से अर्थव्यवस्था पटरी से न उतरने पाए।

महंगाई दर में 70 बेसिस पॉइंट्स तक कटौती का प्लान

वित्त मंत्रालय और पीएमओ के अधिकारियों ने पिछले सप्ताह इस संबंध में मीटिंग की थी। शायद उसके बाद ही पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस पर राहत का फैसला लिया गया। अब अगले चरण में कुछ और चीजों में राहत दी जा सकती है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हमारा टारगेट यह है कि महंगाई में 60 से 70 बेसिस पॉइंट्स की कमी कर दी जाए। माना जा रहा है कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में ही कमी करने से 40 बेसिस पॉइंट्स तक की कमी आ सकती है। बता दें कि अप्रैल में रिटेल महंगाई दर बेकाबू होकर 8 सालों के शीर्ष पर पहुंचते हुए 7.79% हो गई थी। महंगाई दर के आंकड़ों में एक बेसिस पॉइंट का अर्थ 0.01 प्रतिशत होता है।

कॉमर्स मिनिस्ट्री से मांगी लिस्ट, किन उत्पादों पर दे सकते हैं राहत

पाम ऑइल पर इंपोर्ट ड्यूटी को पहले ही सरकार कम कर चुकी है। कैनोला, राइस ब्रैन, ओलिव ऑइल आदि पर टैक्स कटौती किए जाने का विचार चल रहा है। इन सभी पर इंपोर्ट ड्यूटी में 35 फीसदी तक की कमी की जा सकती है। कुछ ऐसे रॉ मैटेरियल्स पर भी सरकार छूट देने का प्लान बना रही है, जिनके लिए भारत पूरी तरह से आयात पर ही निर्भर रहता है। फिलहाल सरकार ने कॉमर्स मिनिस्ट्री से उन उत्पादों की लिस्ट मंगाई है, जिन पर टैक्स में कटौती करके महंगाई में राहत दी जा सके। इसके अलावा सरकार की एक बड़ी कोशिश यह भी है कि पाम ऑइल पर निर्भरता कम की जा सके।

पाम ऑइल का भी विकल्प तलाशने में जुटी सरकार

पिछले दिनों इंडोनेशिया ने पाम ऑइल एक्सपोर्ट पर बैन लगा दिया था। अब भले ही इंडोनेशिया ने बैन हटा दिया है और कीमतों में कमी आ गई है, लेकिन अब सरकार इसके विकल्प के ही तलाश की कोशिश में जुटी है। भारत को हर साल 9 मिलियन टन पाम ऑइल का आयात करना पड़ता है। यह भारत की कुल ए़डिबल ऑइल की खपत का 40 फीसदी हिस्सा है। इसके अलावा यूक्रेन से सूरजमूखी के तेल का आयात भी 90 फीसदी तक प्रभावित हुआ है।

नरेला थाना पुलिस की टीम ने 10 वारदातों में शामिल आरोपी को किया गिरफ्तार

0

दिल्ली (नीति सैन) नरेला इलाके में बढ़ रहे अपराध पर लगाम लगाते हुए एक बार फिर नरेला थाना पुलिस की टीम ने घोषित बीसी को गिरफ्तार किया है इस आरोपी के खिलाफ हत्या सहित 10 अपराधिक मामले दर्ज हैं और बीती रात इस आरोपी को नरेला अंडरपास के पास से गिरफ्तार किया गया है आरोपी की चोरी की बाइक पर ही किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए नरेला के अंदर दाखिल होना चाहता था लेकिन नरेला थाना पुलिस की पेट्रोलिंग टीम ने इस आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी को पेट्रोलिंग टीम ने गिरफ्तार किया है पेट्रोलिंग टीम में मौजूद हेड कांस्टेबल अभिषेक, हेड कांस्टेबल दिनेश, कॉन्स्टेबल नरेंद्र, कॉन्स्टेबल दीपक की टीम ने आरोपी को नरेला लामपुर अंडरपास के पास से गिरफ्तार किया है आरोपी पेट्रोलिंग टीम को देखकर अपनी बाइक को वापस मोड़ कर वाकनेर की तरफ जाने लगा लेकिन पेट्रोलिंग टीम ने आरोपी का पीछा किया और थोड़ी दूरी पर उसे धर दबोचा जांच के दौरान पता चला की आरोपी केएन मार्ग थाना इलाके से बाइक चोरी की गई है।

दिल्ली पुलिस के आला अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक गिरफ्तार आरोपी की पहचान कपिल उर्फ नट्री उर्फ राहुल के रूप में हुई है जो कि वह अपने गांव का ही रहने वाला है गिरफ्तार आरोपी के खिलाफ हत्या सहित 10 अपराधिक मामले दर्ज है जिनमें चोरी, स्नैचिंग, लूटपाट व अन्य कई संगीन धाराओं के तहत आपराधिक मामले दर्ज हैं साथ ही दिल्ली पुलिस ने बताया कि आरोपी इलाके का घोषित आरोपी है फिलहाल नरेला थाना पुलिस की टीम गिरफ्तार आरोपी से पूछताछ में जुटी है।

फरीदाबाद में बैट्री बनाने की वर्कशॉप में लगी भीषण आग, जान बचाने को वॉशरूम में छुपे 3 कर्मचारियों की दम घुटने से मौत, दिल्ली के रहने वाले थे मृतक

0

असल न्यूज़: फरीदाबाद के सेक्टर-37 स्थित एक बैट्री बनाने की वर्कशॉप में शनिवार को भीषण आग लगने से वहां काम करने वाले तीन कर्मचारियों की मौत हो गई। आग के चलते दुकान के अंदर रखा लाखों का माल भी जलकर राख हो गया। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस हादसे की जांच में जुटी है।

जानकारी के अनुसार, शनिवार सुबह अनंगपुर डेयरी इलाके में बैट्री बनाने की वर्कशॉप में आग लग गई। इस दौरान दुकान में काम कर रहे कुछ कर्मचारी भाग कर बाहर निकल गए, जबकि पहली मंजिल पर काम करने वाले तीन कर्मचारी आग से घबराकर जान बचाने के लिए वॉशरूम में छुप गए, जहां दम घुटने से उनकी मौत हो गई। मृतकों की पहचान दिल्ली लाल कुआं निवासी अंकित, सुनील और सतवीर के रूप में हुई है।

आसपास के लोगों ने 11:15 बजे दमकल विभाग को आग की सूचना दी। दमकल की 6 गाड़़ियों ने तुरंत मौके पर पहुंचकर कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया, लेकिन तब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी थी।

दमकल विभाग के जिला अधिकारी सत्यवान ने तीन लोगों की मौत होने की पुष्टि की है। सराय ख्वाजा थाना पुलिस ने शवों का पोस्टमॉर्टम कराने के लिए बीके अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया है। आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट माना जा रहा है।

महेश कुमार प्रसिद्ध अभिनेता व समाज सेवी संजय पराशर को एनआरयूसीसी का सदस्य बनाया

0

सोनीपत: महेश कुमार प्रसिद्ध अभिनेता एवम समाज सेवी संजय पराशर को एनआरयूसीसी ( नेशनल रेलवे यूजर कंस्लटिव कमेटी ) का सदस्य बनाया गया है कल अचानक संजय पराशर ने सोनीपत स्टेशन का दौरा किया और यात्रियों से उनकी समस्याओं के बारे में जानकारी ली , इस मौके पर रेलवे स्टेशन परिसर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए पराशर ने बताया कि उनकी प्राथमिकता रेलवे स्टेशनों की दशा सुधारने ओर स्टेशनों पर यात्रियों को बेहतर सुविधा और व्यवस्था दिलवाना रहेगा। साथ ही दैनिक रेल यात्रियों की समस्याओं को हल करवाना भी उनकी प्राथमिकता में शामिल है , पराशर ने कहा कि रेल मंत्री से मिल कर उन ट्रेनों को शुरू किया जाएगा जो कॅरोना काल से रुकी पड़ी है। सोनीपत को लेकर उन्होंने कहा कि वैष्णो देवी कटरा को जाने वाली श्री शक्ति ट्रेन का ठराहव सोनीपत में करवाना उनकी प्राथमिकता में शामिल है इसके अलावा उन्होंने स्टेशन अधीक्षक सुनील कुमार से स्टेशन पर दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में भी जानकारी ली

सड़क धंसने से यमुनोत्री हाईवे फिर बंद, 3000 तीर्थयात्री फंसे; हार्ट अटैक से 6 की मौत

0

दिल्ली: उत्तरकाशी जिले में स्यानाचट्टी और रानाचट्टी के बीच सड़क धंसने से यमुनोत्री हाईवे शुक्रवार शाम फिर से बड़े वाहनों के लिए बंद कर दिया गया। इससे यमुनोत्री क्षेत्र में तीन हजार यात्री फंस गए। डामटा से जानकीचट्टी के बीच भी तमाम यात्री यमुनोत्री हाईवे खुलने का इंतजार कर रहे हैं। एनएच के अधिशासी अभियंता राजेश पंत ने बताया, मार्ग जल्द खोल दिया जाएगा।

उधर, विभिन्न प्रांतों से चारधाम यात्रा पर आए छह श्रद्धालुओं की हार्टअटैक से मौत हो गई। रुद्रप्रयाग के सीएमओ डॉ.बीके शुक्ला ने बताया कि शुक्रवार को प्रदीप कुलकर्णी (61) निवासी पुणे, महाराष्ट्र, और बंशीलाल (57) निवासी मंदसौर, मध्य प्रदेश की मृत्यु हो गई। बदरीनाथ में बीना बेन (55) निवासी गुजरात की भी हृदयगति रुकने से मृत्यु हो गई।

उधर, ऋषिकेश में चारधाम की यात्रा करके लौटे अवधेश नारायण तिवारी (65) पुत्र शिव प्रसाद तिवारी निवासी साहो आमला गोरखपुर, यूपी की हार्ट अटैक से मौत हो गई। वहीं, हरिद्वार और ऋषिकेश के मंदिरों के दर्शन के लिए आईं सौरम बाई (49) निवासी धार, मध्य प्रदेश और उमेश दास जोशी (58) निवासी मलाड, मुंबई की भी हार्ट अटैक से मृत्यु हो गई।

हरिद्वार और ऋषिकेश में फंसे 9500 यात्री
चारधाम यात्रा पर जा रहे तीर्थ यात्रियों के लिए ऑफलाइन पंजीकरण काे रोक दिया गया है। रजिस्ट्रेशन के बिना ऋषिकेश से ऊपर तीथ यात्रियों को जाने नहीं दिया जा रहा है। ऐसे में ऋषिकेश, हरिद्वार सहित आसपास में ही साढ़े नौ हजार तीर्थयात्री फंसे हुए हैं। सभी के होटल, धर्मशाला, लॉज में शरण ली हुई है, जिस कारण ऋषिकेश और हरिद्वार पूरी तरह पैक हैं।

ऑफलाइन पंजीकरण की अब सख्त व्यवस्था
पर्यटन विभाग ने ऑफलाइन पंजीकरण की व्यवस्था को और सख्त बना दिया है। सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर ने कहा कि अब ऑफलाइन पंजीकरण सिर्फ एक सप्ताह के भीतर का ही होगा। एक सप्ताह से अधिक समय का पंजीकरण नहीं होने दिया जाएगा।

22,950FansLike
3,327FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Recent Posts