Sunday, April 14, 2024
Google search engine
Homeअन्यDelhi Fire: अलीपुर अग्निकांड मामले में सीएम ने किया मुआवजे का एलान,...

Delhi Fire: अलीपुर अग्निकांड मामले में सीएम ने किया मुआवजे का एलान, फैक्टरी के खिलाफ होगी कार्रवाई; 11 की मौत

अलीपुर में एक पेंट फैक्टरी में आग लगने से 11 लोगों की मौत के बाद दमकल कर्मियों का तलाशी अभियान जारी है। दमकल विभाग के निदेशक अतुल गर्ग के मुताबिक, फैक्टरी में दो और लोगों के फंसे होने की संभावना है।अग्निकांड मामले में पुलिस ने गैर इरादतन हत्या और गैर इरादतन हत्या की प्रयास की धारा 304 और 308 के तहत मामला दर्ज किया है।

सीएम केजरीवाल ने किया मुआवजे का एलान
घटना स्थल का दौरा करने के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि यह घटना बहुत ही दुखद है। हम मृतकों के परिवारों को 10-10 लाख रुपये देंगे। गंभीर रूप से घायल लोगों को दो-दो लाख रुपये और मामूली रूप से घायल हुए लोगों को 20 हजार रुपये देंगे। सीएम ने साथ ही कहा कि दमकल की गाड़ियां देर से पहुंचीं। इसकी जानकारी मिली। मैं इसकी जांच के आदेश दूंगा। फैक्टरी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

सीएम केजरीवाल ने किया दौरा
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अलीपुर का दौरा किया। इस दर्दनाक हादसे में पुलिसकर्मी करमबीर सहित चार लोग गंभीर रूप से घायल हैं। करमबीर साहस दिखाकर आग में फंसे लोगों को बचाने की कोशिश में बुरी तरह से झुलस गए। उन्हें लोकनायक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसा बृहस्पतिवार शाम 5:25 बजे हुआ, जिस पर दमकल की 22 गाड़ियों की मदद से करीब तीन घंटे में आग पर काबू पाया जा सका। मृतकों की पहचान नहीं हो पाई है। आग की चपेट में पांच दुकानें व गाड़ियां भी आ गईं। आग का कारण पता नहीं चला है। फरार फैक्टरी मालिक अखिल की तलाश की जा रही है। मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है।

अब तक 11 लोगों की मौत
अग्निशमन विभाग ने बताया कि दो पेंट और केमिकल गोदामों में आग लगने से 11 लोगों की मौत हो गई। वहीं चार घायल हैं। मृतकों को पोस्टमार्टम के लिए बाबू जगजीवन राम अस्पताल ले जाया गया है। लोकनायक अस्पताल में दो मरीज भर्ती हुए है। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर सुरेश कुमार के मुताबिक, दो लोगों को सांस लेने में दिक्कत के कारण भर्ती किया गया है। दोनों की हालत स्थिर है। किसी भी जले हुए मरीज को अस्पताल में लाया नही गया। मृतकों की अभी पहचान नहीं हो पाई है। दोनों की हालत स्थिर है।

घायलों की पहचान
1. ज्योति पत्नी सुनील उम्र 42 वर्ष
2. दिव्या पुत्री सुनील 20 वर्ष
3. मोहित सोलंकी पुत्र जगत सोलंकी 34 वर्ष।
4. कांस्टेबल करमबीर

काफी मात्रा में जमा था केमिकल
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, आग लगने के बाद फैक्टरी में कई धमाके हुए। रिहायशी इलाके में होने की वजह से आग से वहां दहशत फैल गई। फैक्टरी में 24 लोगों के फंसे होने की सूचना मिली थी। वहां काफी मात्रा में केमिकल था। आग नजदीकी घरों में फैलने से दीवारें तपने लगीं। पुलिस ने वहां रह रहे परिवाराें को सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया। फैक्टरी का धुआं नजदीकी घरों में भी घुस गया।

आग लगते ही मच गई भगदड़, कई लोग घायल
अलीपुर के रिहायशी इलाके में फैक्टरी में आग लगने के बाद कई धमाके हुए। इससे आग तेजी से फैल गई और चीख-पुकार के बीच लोग जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे। भगदड़ के बीच कई लोग मामूली रूप से घायल हो गए। जबकि मौके का फायदा उठाकर हरियाणा निवासी फैक्टरी का मालिक अखिल जैन फरार हो गया। घटना के बाद कर्मचारियों ने संपर्क करने की कोशिश की तो उसने बताया कि वह गुवाहाटी में है।

वहीं, आग ने स्टेशनरी व टेलर की दुकान, सैलून, ढाबा, किराना स्टोर व सामने वाले घरों को चपेट में ले लिया। इससे सामने वाले घर में रहने वाले तीन लोगों की झुलसने से मौत हो गई, जबकि दुकानों व घरों में रखा सामान जल गया। इसके अलावा फैक्टरी के अंदर खड़े वाहन और बाहर स्कार्पियों व बाइक भी जल गई। स्थानीय लोग व दमकलकर्मी घरों की छत से आग बुझाने में जुट गए।

लोगों का कहना है कि फैक्टरी में करीब 12 लोग हताहत हो सकते हैं। वहीं, दमकल विभाग के अधिकारियों का कहना है कि घटना के समय 24 लोगों के फैक्टरी में होने की जानकारी मिली थी। स्थानीय लोगों ने बताया कि फैक्टरी में करीब तीन दर्जन से अधिक केमिकल के ड्रम व काफी मात्रा में पेंट के डब्बे रखे हुए थे। ज्वलनशील पदार्थ होने से आग तेजी से फैल गई।

जेसीबी मंगवाकर शुरू कराया तलाशी अभियान
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आग लगने से फैक्टरी का फर्श काफी गर्म हो गया था। इसे देखते हुए देर रात करीब 11 बजे जेसीबी मंगवाकर तलाशी अभियान शुरू किया गया।

नशा मुक्ति केंद्र के लोगों को बाहर निकाला
फैक्टरी के सामने एक नशा मुक्ति केंद्र भी है। धमाके के बाद इसमें आग लग गई थी। स्थानीय लोगों व पुलिस ने समय रहते लोगों को बाहर निकाल लिया।

अपनों की तलाश में जुटे लोग
घटना की जानकारी मिलने के बाद से अपनों की तलाश में कई लोग फैक्टरी पहुंच गए। सुनील ठाकुर ने बताया कि भाई अनिल ठाकुर फैक्टरी में काम करता था। भाई से मोबाइल के जरिये संपर्क करने का प्रयास कर रहा हूं, लेकिन कोई सुराग नहीं मिल रहा है। फैक्टरी से मिले शव इतने झुलस गए हैं कि पहचान पाना मुश्किल है। एक अन्य युवक ने बताया कि छोटा भाई हुकुम भी यहां काम करता था। शाम पांच बजे के बाद से उसका फोन बंद है।

आग की हाल की घटनाएं
19 जनवरी 2024: पीतमपुरा में घर में आग लगने से 5 लोगों की मौत।
27 जनवरी 2024: शाहदरा में इमारत में आग लगने से 9 माह के बच्चे समेत चार लोगों की मौत।
15 नवंबर 2023: शकरपुर में चार मंजिल इमारत में लगी आग। जान बचाने के लिए कई लोग नीचे कूदे। महिला की मौत व दमकलकर्मी समेत 19 लोग झुलसे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments