Wednesday, May 29, 2024
Google search engine
Homeदेश विदेश#IPL के चक्कर में महिला को लगा 86,000 हजार का झटका.

#IPL के चक्कर में महिला को लगा 86,000 हजार का झटका.

असल न्यूज़: बेंगलुरु में रहने वाली एक महिला आईपीएल का टिकट ऑनलाइन खरीदना चाहती थी. उन्हें फेसबुक पर ‘IPL Cricket Ticket’ नाम का एक पेज मिला. महिला ने बिना किसी जांच के पेज से कॉन्टेक्ट किया और उनसे टिकट खरीदने की कोशिश की. लेकिन यह एक ऑनलाइन धोखाधड़ी थी और महिला को ₹86,000 का नुकसान हो गया. टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, 43 साल की एक महिला बेंगलुरु में Royal Challengers Bangalore और Kolkata Knight Riders का मैच देखना चाहती थीं. वो ऑनलाइन टिकट ढूंढ रहीं थीं कि उन्हें फेसबुक पर ‘IPL Cricket Ticket’ नाम का पेज दिखा. खुश होकर उन्होंने पेज पर दिए गए नंबर पर फोन लगा लिया.

पहले मांगे 8 हजार रुपये

पेज पर उन्हें बताया कि वो IPL के टिकट बेचता है. महिला ने पूछा कि उन्हें 20 टिकट चाहिए. उस शख्स ने कहा कि अगर वो पहले से थोड़े पैसे दे दें तो वो टिकट उनके नाम कर सकता है. उसने टिकट रोकने के लिए 8,000 रुपये मांगे. महिला ने उस पर भरोसा कर लिया और पैसे ट्रांसफर कर दिए.

फिर और मांगे पैसे

लेकिन फिर, उस आदमी ने और पैसे मांगे. उसने ₹11,000 रुपये मांगे. महिला ने मान लिया और पैसे भेज दिए. इसके बाद, उसने किसी और चीज के लिए ₹8,170 रुपये मांगे. महिला ने फिर से भुगतान कर दिया. यह सिलसिला चलता रहा, उसने अलग-अलग किस्तों में और ज्यादा पैसे मांगे – ₹14,999 और ₹21,000. महिला को ये एहसास नहीं हुआ कि उनके साथ धोखाधड़ी हो रही है और वो बार-बार पैसे भेजती रहीं.

फिर हुआ धोखाधड़ी का ऐहसास

जब महिला ने टिकट या रिफंड मांगा तो वह आदमी बहाने बनाने लगा. उसने कहा कि कोई टेक्निकल प्रॉब्लम है और अगर वह और पैसे भेज दें तो उनके पैसे वापस कर देगा. उसने ₹16,000 और मांगे जो महिला ने देने से इनकार कर दिया. महिला ने फिर से टिकट या अपने पैसे वापस मांगे. आखिरकार, उसे एहसास हुआ कि उसके साथ धोखा हुआ है. उसने धमकी दी कि अगर वह उसे पैसे वापस नहीं करता है तो वह पुलिस के पास जाएगी.

मामला हुआ दर्ज

जवाब में, धोखेबाज ने उसे ऐसा करने की हिम्मत दी और फोन काट दिया. अगले दिन, वह पुलिस के पास गई और शिकायत दर्ज कराई. पुलिस ने कार्रवाई की और भारतीय दंड संहिता की दो धाराओं के तहत मामला दर्ज किया – किसी का रूप धारकर धोखाधड़ी करना और धोखाधड़ी करना और बेईमानी से संपत्ति की डिलीवरी को प्रेरित करना. ये महिला के लिए एक कड़वा सबक था. उन्होंने सीखा कि ऑनलाइन लेन-देन करते समय सावधान रहना चाहिए और पैसे भेजने से पहले बेचने वाले की जांच करनी चाहिए. ये हम सभी के लिए एक सबक है कि हमें सतर्क रहना चाहिए और उन धोखाधड़ियों में नहीं फंसना चाहिए जो बहुत ज्यादा फायदे वाली लगती हैं.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments