Saturday, July 20, 2024
Google search engine
HomeDelhi NCR'एक बूंद पानी भी बर्बाद नहीं होने देंगे': दिल्ली सरकार का बड़ा...

‘एक बूंद पानी भी बर्बाद नहीं होने देंगे’: दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, ADM-SDM करेंगे पाइपलाइन की मॉनिटरिंग

असल न्यूज़: दिल्ली में जल संकट के बीच केजरीवाल सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। पानी की बर्बादी रोकने के लिए दिल्ली सरकार फैसला लिया है कि एडीएम-एसडीएम पानी की पाइपलाइन की मॉनिटरिंग करेंगे। सरकार का कहना है कि कहीं भी पानी की लीकेज बर्दाश्त नहीं की जाएगी। हम एक बूंद पानी भी बर्बाद नहीं होने देंगे।

मंत्री आतिशी ने मुख्य सचिव को पत्र लिखकर यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। प्रत्येक जोन में एडीएम और एसडीएम स्तर के अधिकारियों के साथ-साथ तहसीलदारों और अन्य अधिकारियों की एक टीम तैनात की जाएगी। यह टीम पानी के टैंकरों की व्यवस्था और पानी से संबंधित शिकायतों के समाधान के लिए त्वरित प्रतिक्रिया दल के रूप में कार्य करेंगे। जिससे लोगों को पर्याप्त मात्रा में जल मिल सके।

संकट के बीच कई जगहों पर बर्बाद हो रहा पीने का पानी
राजधानी में गंभीर पेयजल संकट के बीच अनेक स्थानों पर पीने का पानी बर्बाद हो रहा है। कई जगह पाइप लाइन लीक होने के कारण पीने का पानी लोगों के नलों के बजाय नालों में बह जाता है। पाइप लाइन लीक होने के मामले नई दिल्ली इलाके में देखने को मिल रहे हैं। यह हालात तब हैं जब पानी संकट व पानी बर्बाद होने के मामले को लेकर दिल्ली व हरियाणा सरकार और दिल्ली सरकार व उपराज्यपाल आमने-सामने हैं।

राजधानी में आईटीओ स्थित अन्ना कॉलोनी में पेयजल आपूर्ति करने वाली पाइप लाइन में बड़ी लीकेज देखने को मिली। इस कारण यहां पीने का पानी बर्बाद हो रहा था। इलाके के निवासियों ने बताया कि पाइप लाइन में कई महीने से लीकेज है। इस बारे में कई बार जल बोर्ड को अवगत कराया। इस कॉलोनी के पास ही एक अन्य स्थान पर भी पाइप लाइन लीक हो रही थी। आईटीओ स्थित बहादुर शाह जफर मार्ग पर हनुमान मंदिर के पास कई माह से पाइप लाइन में लीकेज मिली और यहां भी रोज काफी पानी बर्बाद हो रहा था।

चिराग दिल्ली में भी पाइप लाइन लीक हो रही है। खास बात यह है कि इस पाइप लाइन में लीकेज के संबंध में अमर उजाला ने दो दिन पहले खबर प्रकाशित की थी। यहां पर भी पानी बर्बाद होने का सिलसिला निरंतर जारी है। इसके अलावा नई दिल्ली के कई इलाकों में पाइप लाइन जर्जर हालत में है। इन स्थानों पर पाइप लाइनों के बड़े हिस्से से जंग के टुकड़े टूट हुए हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments